Sunday, April 14, 2024
HomeHindi NewsBusinessअडानी की ये कंपनी कर रही निवेशकों को मालामाल,शेयर्स में जबरदस्त उछाल

अडानी की ये कंपनी कर रही निवेशकों को मालामाल,शेयर्स में जबरदस्त उछाल

पिछले साल लम्बा घाटा झेलने के बाद अब अडानी समूह के शेयर्स में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है। तीसरी तिमाही में अडानी ग्रुप के शानदार प्रदर्शन से समूह के शेयर हाई लेवल पर ट्रेड किए। पिछले साल जनवरी में अमेरिकी शॉर्ट सेलर हिंडनबर्ग रिसर्च द्वारा एक महत्वपूर्ण रिपोर्ट जारी होने के बाद से समूह के अधिकांश शेयरों में जोरदार सुधार हुआ है। इसमें काफी हद तक कतर इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी और जीक्यूजी पार्टनर्स का सहयोग रहा है।

इन शेयर्स में मिल रहा गजब का रिटर्न

अडानी समूह के शेयरों में देश की सबसे बड़ी रिन्यूएबल एनर्जी (आरई) कंपनी और दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सोलर पीबी डेवलपर, अडानी ग्रीन एनर्जी के शेयरों में तीन महीने में जबरदस्त तेजी देखने को मिली। इस अवधि के दौरान, शेयर ₹1,052 से बढ़कर ₹1,918 पर पहुंच गए। इस दौरान इसने 82% का रिटर्न दिया और पिछले एक साल की अवधि में इसमें 295% की तेजी आई है। पिछले पांच बर्षों में इस अवधि में शेयरों ने 5720% का चौंका देने वाला रिटर्न दिया।

गुजरात के लिए बड़ी घोषणा

बता दें 14 फरवरी को, कंपनी ने घोषणा की कि गुजरात के खावड़ा में 551 मेगावाट की सौर क्षमता चालू हो गई है और राष्ट्रीय ग्रिड को बिजली की सप्लाई शुरू कर दी है। कंपनी ने खावड़ा आर्ड पार्क पर काम शुरू करने के 12 महीने के भीतर यह उपलब्धि हासिल की।कंपनी की योजना इस आरई पार्क में 30 गीगावॉट नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता विकसित करने की है। योजनाबद्ध क्षमता अगले पांच वर्षों में चालू होने की उम्मीद है। पूरा होने पर, खावड़ा आरई पार्क दुनिया का सबसे बड़ा नवीकरणीय ऊर्जा प्रतिष्ठान होगा। यह आरई पार्क अकेले हर साल 16.1 मिलियन घरों को बिजली दे सकता है।

12 राज्यों में है फैलाव

कंपनी के पास वर्तमान में 9 गीगावॉट से अधिक का परिचालन नवीकरणीय पोर्टफोलियो है, जो भारत में सबसे बड़ा है। यह 12 राज्यों में फैला हुआ है। कंपनी ने भारत के डीकार्बोनाइजेशन लक्ष्यों के अनुरूप, 2030 तक 45 गीगावॉट हासिल करने का लक्ष्य रखा है। वैश्विक क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज ने हाल ही में कंपनी की रेटिंग को नकारात्मक’ से बढ़ाकर ‘स्थिर’ कर दिया, है। कंपनी ने 27 फरवरी को एक नियामक फाइलिंग में कहा कि कंपनी इस साल अपने ऋण दायित्व को चुकाने के लिए अमेरिकी डॉलर मूल्य वाले बांड के माध्यम से 409 मिलियन अमेरिकी डॉलर जुटाने की योजना बना रही है। हिंडनबर्ग रिपोर्ट के बाद यह पहली विदेशी बांड बिक्री है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments