Friday, June 21, 2024
HomeHindi Newsपानीपुरी बेचने वाली की बेटी का कमाल,10वी की परीक्षा में किया टॉप

पानीपुरी बेचने वाली की बेटी का कमाल,10वी की परीक्षा में किया टॉप

गुजरात माध्यमिक बोर्ड की 10वीं कक्षा के परिणामों में बड़ोदरा की एक छोटी व्यापारी की बेटी ने अद्भुत सफलता हासिल की है। पानीपूरी बेचकर अपने परिवार का गुजारा करने वाले प्रकाश कुशवाहा की बेटी पूनम ने 99.72 पर्सेंटाइल हासिल कर पूरे परिवार को गर्व और खुशी से भर दिया है।

पानीपूरी वाले की बेटी की असाधारण सफलता

बड़ोदरा में पिछले 25 साल से पानीपूरी का ठेला चलाकर अपने परिवार का पालन-पोषण करने वाले प्रकाश कुशवाहा की बेटी पूनम ने इस साल 10वीं कक्षा में 96 प्रतिशत अंक प्राप्त किए। जैसे ही पूनम का रिजल्ट आया, पूरे परिवार में हर्ष की लहर दौड़ गई। छोटे से घर में रहने वाले कुशवाहा परिवार के आनंद का कोई ठिकाना नहीं था।

संघर्ष और समर्पण की कहानी

प्रकाश कुशवाहा का जीवन संघर्षों से भरा रहा है। छोटी-सी दुकान से अपने परिवार का पालन-पोषण करते हुए, उन्होंने अपनी बेटी की शिक्षा के लिए कभी हार नहीं मानी। पूनम भी अपने माता-पिता का हाथ बंटाती थी और जो भी समय मिलता, उसमें पढ़ाई करती थी। उसके दृढ़ संकल्प और कठिन परिश्रम ने उसे यह सफलता दिलाई।

मेडिकल क्षेत्र में भविष्य की तैयारी

पूनम अब आगे मेडिकल क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहती है। उसका सपना डॉक्टर बनने का है और वह इसके लिए कड़ी मेहनत करने को तैयार है। पूनम की इस सफलता पर उसके माता-पिता बेहद खुश हैं और वे उसे आगे की पढ़ाई के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं।

गांव में जश्न का माहौल

पूनम की मां, अनिता कुशवाहा ने बताया कि रिजल्ट आने के बाद पूरा परिवार अपने गांव में है और गांव में भी बेटी की सफलता का जश्न मनाया जा रहा है। पूनम की इस उपलब्धि ने न केवल उसके परिवार को, बल्कि पूरे गांव को गर्व का अनुभव कराया है।

प्रेरणा की एक जीवंत मिसाल

पूनम कुशवाहा की यह सफलता उन सभी विद्यार्थियों के लिए प्रेरणादायक है जो कठिन परिस्थितियों में भी अपने सपनों को पूरा करने का जज्बा रखते हैं। पूनम की कहानी यह साबित करती है कि दृढ़ संकल्प और मेहनत से कोई भी मंजिल पाई जा सकती है।

पूनम की सफलता की यह कहानी समाज में एक सकारात्मक संदेश देती है और यह बताती है कि अगर हमारे इरादे मजबूत हों, तो किसी भी बाधा को पार किया जा सकता है। पूनम ने न केवल अपने परिवार का नाम रोशन किया है, बल्कि यह भी साबित कर दिया है कि संघर्ष में ही सफलता की असली चमक होती है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments