Wednesday, May 29, 2024
HomeHindi NewsBihar Newsराजनीति का सौम्य चेहरा नहीं रहा.. सुशील मोदी के निधन पर सबने...

राजनीति का सौम्य चेहरा नहीं रहा.. सुशील मोदी के निधन पर सबने जताया दुख

बिहार की राजनीति में दशकों तक अपनी उपस्थिति और बीजेपी का चेहरा रहे पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी का कैंसर के कारण निधन हो गया। उनके निधन पर भाजपा के आला नेताओं के साथ विपक्ष ने भी दुख जताया है। पीएम मोदी, अमित शाह, लालू यादव समेत उनके समकक्ष नेताओं ने इसे अपूर्णीय क्षति बताया है।
पीएम और गृहमंत्री ने यह कहा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया कि पार्टी में अपने मूल्यवान सहयोगी और दशकों से मेरे मित्र रहे सुशील मोदी के असामयिक निधन से अत्यंत दुख हुआ है। बिहार में भाजपा के उत्थान और उसकी सफलताओं के पीछे उनका अमूल्य योगदान रहा है। आपातकाल का पुरजोर विरोध करते हुए उन्होंने छात्र राजनीति से अपनी एक अलग पहचान बनाई थी। वे बेहद मेहनती और मिलनसार विधायक के रूप में जाने जाते थे। राजनीति से जुड़े विषयों को लेकर उनकी समझ बहुत गहरी थी। जीएसटी पारित होने में उनकी सक्रिय भूमिका सदैव स्मरणीय रहेगी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लिखा कि हमारे वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी के निधन की सूचना से आहत हूँ। आज बिहार ने राजनीति के एक महान पुरोधा को हमेशा के लिए खो दिया। एबीवीपी से भाजपा तक उन्होंने संगठन व सरकार में कई महत्त्वपूर्ण पदों को सुशोभित किया। उनकी राजनीति गरीबों व पिछड़ों के हितों के लिए समर्पित रही।
लालू यादव ने बताया जुझारू
बिहार के पूर्व सीएम और राजद प्रमुख लालू यादव ने ट्वीट किया कि पटना यूनिवर्सिटी छात्र संघ के समय 51-52 वर्षों से हमारी मित्रता थी। वे एक जुझारू, समर्पित सामाजिक राजनीतिक व्यक्ति थे। ईश्वर दिवगंत आत्मा को चिरशांति तथा परिजनों को दुख सहने की शक्ति प्रदान करें।
समकक्षों ने भी योगदान को सराहा
केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि मैंने आज अपने भाई को खोया है, इसकी मैं व्याख्या नहीं कर सकता। सुशील मोदी में बहुत नम्रता थी, उनके दिल में बहुत परोपकार था। पार्टी के लिए उन्होंने समर्पण भाव से काम किया। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मेरा और उनका बरसों पुराना रिश्ता था। वह मौलिक चिंतक, कुशल संगठक, सफल प्रशासक थे। बीजेपी के काम को बढ़ाने में उनका अतुलनीय योगदान था। बिहार के विकास में उनके योगदान को कोई भूल नहीं सकता। मुख्यमंत्री मोहन यादव ने ट्वीट किया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में मुझे भी उनके साथ काम करने का अवसर मिला। उनका जाना मेरी व्यक्तिगत क्षति है। बिहार के उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी ने कहा कि सुशील मोदी का निधन बिहार के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है और बिहार में बीजेपी के लिए अपूरणीय क्षति है। उन्होंने बीजेपी को आगे बढ़ाने का काम किया। डिप्टी सीएम विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि वह पार्टी में सभी को हिम्मत प्रदान करते थे और मार्गदर्शन देते थे। आज उनकी कमी खल रही है उनकी भरपाई निकट भविष्य में कहीं नहीं दिख रहा है। ईश्वर इनकी आत्मा को शांति दें और इनके परिवार को इस दु:ख को सहने की क्षमता दें।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments