Sunday, March 3, 2024
HomeHindi NewsHaryanaहरियाणा को मिलेगी इलेक्ट्रिक बसों की सौगात.. 450 बसें चलाएगी भाजपा सरकार

हरियाणा को मिलेगी इलेक्ट्रिक बसों की सौगात.. 450 बसें चलाएगी भाजपा सरकार

- Advertisment -spot_img

हरियाणा के पंचकूला, अंबाला, सोनीपत, रेवाड़ी, करनाल, रोहतक और हिसार सहित 7 शहरों में सरकार की ओर से जून 2024 तक इलेक्ट्रिक सिटी बस सेवा शुरू करने का लक्ष्य रखा गया है। सरकार प्रदेश में 450 अत्याधुनिक, वातानुकूलित इलेक्ट्रिक बसों का संचालन करेगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बताया कि पानीपत और जगाधरी में इलेक्ट्रिक सिटी बस के लांच कर दी गई हैं। ऐतिहासिक नगरी पानीपत के साथ उस समय एक और सुखद अध्याय जुड़ गया, जब मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पानीपत के नए बस स्टैंड सिवाह से इलेक्ट्रिक सिटी बस सेवा का शुभारंभ किया। उन्होंने बस में सवारी भी की। परिवहन विभाग के प्रधान सचिव नवदीप विर्क ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि प्रदेश के 7 शहरों में इलेक्ट्रिक बसों के लिए 3-3 एकड़ में 110 करोड़ की लागत से नए बस स्टैंड बनाए जाएंगे, जिनमें चार्जिंग की सुविधा उपलब्ध होगी।
प्रदूषण कम करना है उद्देश्य, 7 दिन फ्री सेवा
मुख्यमंत्री का कहना है कि लोगों तक सुगम परिवहन सुविधा का लाभ पहुंचाने के साथ ही पर्यावरण प्रदूषण को भी कम करना है। मुख्यमंत्री ने पानीपत में पहले सात दिन इलेक्ट्रिक सिटी बस सेवा मुफ्त करने की घोषणा की, ताकि लोग अपनी कार व निजी वाहनों को छोड़ सार्वजनिक परिवहन से यात्रा कर सकें। उन्होंने कहा कि सिटी बस सेवा का रूट भी शहर के लोगों की मांग व आवश्यकता को ध्यान में रखकर तैयार किया जाएगा। पानीपत में फिलहाल तीन इलेक्ट्रिक सिटी बस चालू की गई हैं। शीघ्र ही पांच अन्य बसों को शामिल किया जाएगा। सिटी बस सेवा यात्री किराया 10 से 50 रुपये के बीच होगा और रूट 28 से 30 किलोमीटर का होगा। शहर से लगे गांवों में सिटी बस सेवा का चरणबद्ध तरीके से विस्तार किया जाएगा।
प्रदूषण से निपटने 2450 करोड़ रुपये खर्च करेगी सरकार
मुख्यमंत्री मनोहर लाल प्रदेश के वित्तमंत्री भी हैं। उन्होंने अपने 2023-2024 के बजट अभिभाषण के दौरान घोषणा की थी कि प्रदेश के 9 नगर निगमों और रेवाड़ी शहर में सिटी बस सेवा शुरू की जाएगी। गुरुग्राम, मानेसर और फरीदाबाद में मौजूदा सिटी बस सेवाओं का विस्तार किया जाएगा। यह पूरे देश में किसी भी राज्य द्वारा शुरू की गई एक अनूठी परियोजना बन गई है। सीएम ने कहा कि 450 अत्याधुनिक, वातानुकूलित इलेक्ट्रिक बसों के बेड़े के साथ 12 वर्षों से अधिक समय की 2450 करोड़ रुपये की यह परियोजना प्रदूषण रहित पर्यावरण की दिशा में एक बड़ा कदम है।
हरियाणा परिवहन की बसें हैं पहली पसंद
मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली अंतरराज्यीय बस अड्डे से यात्रियों को हरियाणा परिवहन की बसों में यात्रा करना पहली पसंद है। प्रतिदिन 11 लाख किलोमीटर और 11 लाख लोग हरियाणा परिवहन की बसों से यात्रा करते हैं। रोडवेज के बेड़े में 4651 बसों सहित 562 बसें किलोमीटर स्कीम तथा लगभग 1300 परमिट वाली बसें रूट पर दौड़ रही हैं। प्रदेश में सडक़, रेल व हवाई कनेक्टिविटी बढ़ाने पर पिछले 9 वर्षों में उल्लेखनीय काम हुए हैं। अब हर जिला संपर्क सडक़ मार्ग को राष्ट्रीय मार्ग से जोड़ा गया है। 9 वर्षों में 33 हजार किलोमीटर लंबी सडक़ों के निर्माण व मरम्मत का कार्य किया गया है, जिस पर 20 हजार करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। 7 हजार किलोमीटर नई सडक़ों के निर्माण पर 4 हजार करोड़ रुपये खर्च किए गए। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग ने भी अपनी सडक़ों को निर्माण पर 50 हजार करोड़ रुपये खर्च किए हैं। सीएम का दावा है कि 9 वर्षों में हरियाणा रोडवेज में लगभग 3500 चालकों व परिचालकों की नई भर्ती की गई है। हरियाणा कौशल रोजगार निगम के माध्यम से 1500 चालक व परिचालकों की भर्ती की गई है।
मेट्रो की तर्ज पर ट्रांसपोर्ट सिस्टम
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि मेट्रो की तर्ज पर दिल्ली के सराय काले खां से पानीपत तक रैपिड रेल ट्रांसपोर्ट सिस्टम शुरू होगा, जिसका करनाल तक विस्तार करने का प्रयास होा। कुंडली-मानेसर एक्सप्रेस-वे के साथ-साथ हरियाणा ओरबीट रेल सेवा भी आरंभ की जा रही है, जिससे कुंडली से पानीपत तक बढ़ाया जाएगा। इससे हरियाणा के लोगों को आवागमन की बेहतर सुविधा मिलेगी। अब हरियाणा का अपना हवाई अड्डा हिसार में होगा। हिसार को दिल्ली से सीधी रेलवे की फास्ट कनेक्टिविटी मिलेगी। उन्होंने कहा कि हरियाणा हर दृष्टि से देश-विदेश के निवेशकों का मनपसंद राज्य बन गया है। उद्योग फले-फूले और स्थानीय युवाओं को रोजगार मिले, इसके लिए प्रदेश सरकार ने अपनी उद्योग नीति में ईज आफ डूइंग बिजनेस को सरल किया है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments

- Advertisment -spot_img