जब नीतीश कुमार 37 सीट जीत कर आए थे और BJP ने 69,तब भी हमने उन्हें CM माना- BJP नेता सम्राट चौधरी

बिहार NDA में इन दिनों सब कुछ ठीक नजर नहीं आ रहा है। बिहार में एनडीए के सहयोगी दलों के लगातार विरोधाभाषी बयान सामने आ रहे हैं तो वहीं अब भाजपा नेताओं के द्वारा भी गठबंधन को लेकर जो बयान सामने आ रहे हैं उससे ऐसा प्रतीत होने लगा है कि बिहार में सत्ताधारी एनडीए के भीतर सब कुछ तो बेहतर नहीं है।

दरअसल बिहार सरकार के मंत्री और भाजपा नेता सम्राट चौधरी ने औरंगाबाद में एक सभा को संबोधित करते हुए कुछ ऐसा कह दिया जिससे बिहार की राजनीतिक चौपालों में चर्चाएं होने लगी। मंत्री सम्राट चौधरी ने औरंगाबाद में कहा कि हम गठबंधन की सरकार चला रहे हैं यहां हमारी स्वतंत्र सरकार नहीं है उन्होंने कहा कि हम बगल के राज्यों में स्वतंत्र सरकार चला रहे हैं चाहे मध्यप्रदेश हो या यूपी हो यहां हमारा नेतृत्व होता था और हम चीजों को सार्थक करते थे ।जब नेतृत्व आपका होता है तो आपके लिए यह स्वाभाविक रूप से बहुत आसान हो जाता है लेकिन यहां बिहार में हम लोगों के लिए बहुत ही चुनौतीपूर्ण है यहां काम करना यहां की सरकार के साथ काम करना ,क्योंकि दो नहीं चार चार विचारधाराएं एक साथ काम करती हैं।

इसके साथ ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा कि गठबंधन के नेतृत्व में नीतीश कुमार 43 सीटें जीतकर आये और हम 74 सीटे जीतकर आये फिर हम हमने नीतीश जी को मुख्यमंत्री माना। मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा कि यह कोई नई बात नहीं है जब नीतीश जी 37 सीट कार आए थे 2000 में 68-69 सीट उस समय भी भाजपा जीतकर आयी थी तब भी नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री इस पार्टी ने माना ।

बता दे की हाल ही में जनता दल यूनाइटेड के नेता उपेंद्र कुशवाहा का बयान भी सामने आया था जिसमें उन्होंने नीतीश कुमार को पीएम मैटेरियल बताया था उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा भी ऐसे बहुत से लोग हैं जो प्रधानमंत्री बनने की क्षमता रखते हैं उनमें से नितेश कुमार भी एक हैं।

MUST READ