आखिर क्या है PFI ? क्या भारत को इस्लामिक स्टेट बनाना है इसका मकसद ? कैसे हुई इसकी शुरुआत , जाने सब कुछ

राष्ट्रीय जाँच एजेंसी एनआईए और ईडी ने पीएफआई यानि कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया के 11 राज्यों में स्तिथ ठिकानों पर छापेमारी करवाई की। पीएफआई के खिलाफ एनआईए की यह अबतक की सबसे बड़ी करवाई मानी जा रही है। अबतक इस करवाई में 106 से ज्यादा लोगो को गिरफ्तार किया जा चुका है। इस करवाई में पीएफआई के अध्यक्ष को भी दबोच लिया गया है। पीएफआई के खिलाफ हुई इस करवाई के बाद गृहमंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित सोभाल के साथ बैठक भी की है।

आखिर यह पीएफआई है क्या ?यह किस तरह के गैर क़ानूनी काम को अंजाम देता है और इनका मकसद क्या है ? यह वे तमाम सवाल हैं जो इस वक्त लोगो के जहन में आ रहे हैं। आइये जानते हैं पीएफआई से जुडी तमाम अहम बाते।

चरमपंथी इस्लामी संघटन है PFI

द पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) भारत में एक चरमपंथी इस्लामी संगठन है। साल 2006 में राष्ट्रीय विकास मोर्चा (एनडीएफ) के उत्तराधिकारी के रूप में गठित और राष्ट्रीय विकास मोर्चा, मनीथा नीथी पासराय, कर्नाटक के साथ विलय कर दिया गया। साल 2007 में तीन मुस्लिम संघटनो से मिलकर यह संगठन बना। दक्षिण भारत के राज्यों में इसकी सक्रियता मानी जाती है।

पीएफआई पर भारत सरकार द्वारा राष्ट्र-विरोधी और असामाजिक गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगाया गया है। हालाँकि पीएफआई खुद को एक नव-सामाजिक आंदोलन के रूप में दिखाता है जो लोगों को न्याय, स्वतंत्रता और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सशक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।

2017 में एनआईए ने गृहमंत्रालय को खत लिखकर इस संघटन पर प्रतिबन्ध लगाने की मांग की थी। एनआईए की रिपोर्ट में पीएफआई के आतंकी गतिविधियों और गैर क़ानूनी गतिविधियों में शामिल होने बात सामने आई थी। एनआईए के डोजियर के अनुसार यह संघटन देश की सुरक्षा के लिए खतरा है। यह मुस्लिमो पर धार्मिक कटटरता थोपता है। यही नहीं यह जबरन धर्मांतरण के मामलो में भी लिप्त रहता है।

क्या है पीएफआई का असली मकसद ?

पीएफआई के खिलाफ ज्यादातर धर्मांतरण के आरोप लगते रहे हैं लेकिन वो इसे खारिज कर देता है। इस बीच साल 2017 में ‘ इंडिया टुडे ‘ के स्टिंग ऑपरेशन में पीएफआई के संस्थापक सदस्यों में से एक अहमद शरीफ ने स्वीकार किया था कि उनका मकसद भारत को इस्लामिक स्टेट बनाना है। जब शरीफ से पूछा गया कि क्या पीएफआई और सत्या सारणी ( PFI का संगठन ) का छिपा मकसद भारत को इस्लामिक स्टेट बनाने का है ? तो इस पर उसने कहा , ‘ पूरी दुनिया . सिर्फ भारत ही क्यों ? भारत को इस्लामिक स्टेट के बनाने के बाद हम दूसरे देशों की तरफ जाएंगे।

MUST READ