नॉटिंघम टेस्ट जीतने के लिए भारत को इन 3 बातों का रखना होगा ध्यान

Liberal Sports Desk : भारत और इंग्लैंड के बीच नॉटिंघम में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच का आज पांचवा दिन खेला जाना है और पांचवें और अंतिम दिन भारत को जीत के लिए 157 रनों की जरूरत है और भारत के अभी 9 खिलाड़ी बल्लेबाजी करने आने हैं। चौथे दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने 209 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए अपनी दूसरी पारी में 1 विकेट के नुकसान पर 52 रन बना लिए हैं केएल राहुल स्टूअर्ट ब्रॉड की गेंद पर 26 रन बनाकर पैवेलियन लौट चुके हैं। चेतेश्वर पुजारा 12 और रोहित शर्मा भी 12 रन बनाकर अभी क्रीज पर टिके हुए हैं अब देखना यह है कि पांचवें और अंतिम दिन भारत किस तरह से जीत के लिए जाते हैं इस आर्टिकल में हम उन बातों को बताने जा रहे हैं कि यदि भारत ने यह चीजें कर ली तो यह मुकाबला भारत आसानी से जीत सकता है।

पहले सेशन में सावधानी बरतनी जरूरी

इंग्लैंड की परिस्थितियों में मैच के किसी भी दिन दिन का पहला सेशन बल्लेबाजी के लिहाज से बेहद जरूरी माना जाता है। इंग्लैंड की परिस्थितियां हमेशा से ही गेंदबाजों के अनुकूल रहती है। ऐसे में पांचवे और अंतिम दिन का पहला सेशन भारत की जीत और हार का नतीजा तय करेगा। यदि भारत पहले सेशन में बिना किसी विकेट खोकर 50 या 60 रन भी बना लेता हैं तो भारतीय टीम अपनी पकड़ टेस्ट मैच में मजबूत कर लेगा।

एंडरसन ब्रॉड की जोड़ी से रहना होगा सावधान

अगर इस टेस्ट मैच में भारत की जीत और हार के बीच में जो सबसे बड़ा रोड़ा है वह गेंदबाज है जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड। यह ऐसे गेंदबाज हैं जो भारतीय टीम को हमेशा ही संकट में डाले हैं। पांचवे दिन की पिच रहेगी और ऐसे में स्टुअर्ट ब्रॉड और जेम्स एंडरसन भली-भति जानते हैं कि यदि हमने शुरुआत के पहले सेशन में रोहित शर्मा और विराट कोहली का विकेट निकाल लिया तो हम मैच में पूरी तरह से हावी हो जाएंगे। ऐसे में जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड की जोड़ी से यदि भारतीय बल्लेबाजों ने संभलकर पहला सेशन निकाल लिया तो फिर भारत के लिए राह आसान हो जाएगी ऐसे में भारतीय टीम के बल्लेबाजों को पहले सेशन में किसी भी तरह से गेंदों को बेहतर तरीके से छोड़ना होगा और मौका मिलने पर रन भी बटोरना होगा।

विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे को करनी होगी शानदार बल्लेबाजी

विराट कोहली अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा भारतीय बल्लेबाजी मध्यक्रम की रीढ़ माने जाते हैं। और ऐसे में आज वह समय रहेगा जब इन तीनों बल्लेबाजों को इंग्लैंड के गेंदबाजों का जमकर सामना करना होगा। यदि इन तीन बल्लेबाजों ने मिलकर छोटी-छोटी पारियां भी खेल दी तो इस लक्ष्य को भारतीय टीम आसानी से हासिल कर लेगी। और कहीं इन तीनों में से दो बल्लेबाज फ्लॉप हो गए तो भारत के लिए राह आसान नहीं होगी

MUST READ