टेस्ट क्रिकेट में बतौर कप्तान सर्वाधिक टेस्ट जीतने वाले यह है 5 कप्तान

Liberal Sports Desk : क्रिकेट के खेल में कप्तानी का बेहद महत्वपूर्ण रोल होता है। खासतौर पर जब बात टेस्ट क्रिकेट की आती है तो एक कप्तान के तौर पर उन चीजों पर विशेष ध्यान होता है कि यह खिलाड़ी अपने खिलाड़ियों से किस तरह से प्रदर्शन करवा रहा है। क्योंकि कप्तान की भूमिका टेस्ट मैच में उस वक्त बढ़ जाती है जब कप्तान को टेस्ट मैच में अहम फैसले लेने होते हैं और यही वजह होती है कि सबसे बेहतरीन कप्तान वही माना जाता है जो अहम मौकों पर बेहतर फैसला कर टीम को जीत दिलाये। इस आर्टिकल में हम उन 5 कप्तानों की बात करने जा रहे हैं जिन्होंने बतौर कप्तान टेस्ट मैच में सर्वाधिक जीत हासिल की है।

ग्रीम स्मिथ :53 टेस्ट जीत

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ ने दक्षिण अफ्रीका टीम की कप्तानी महज 23 साल की उम्र में संभाल ली थी। उस वक्त दक्षिण अफ्रीका की टीम एक ऐसे दौर से गुजर रही थी जब टीम में कई समस्याएं चल रही थी। खिलाड़ियों को लेकर भी टीम मैनेजमेंट को लेकर भी। उस वक्त दक्षिण अफ़्रीका को एक ऐसे कप्तान की जरूरत थी जो टीम को लेकर साथ में चलें और ग्रीम स्मिथ ने दक्षिण अफ्रीका की टीम को उस स्तर पर पहुंचा दिया जहां आज भी उनकी कप्तानी की मिसाल दी जाती है। ग्रीम स्मिथ ने दक्षिण अफ्रीका की कप्तानी करते हुए 53 टेस्ट जीत दर्ज की है। इसमें कोई दो राय नहीं है कि जब तक ग्रीम स्मिथ टीम के कप्तान रहे हैं ऐसे बेहद कम मौके आए जब दक्षिण अफ्रीका की टेस्ट टीम नंबर एक से नंबर दो पहुंची हो। क्योंकि जब तक ग्रीम स्मिथ ने दक्षिण अफ्रीका की कप्तानी की है ज्यादातर मौकों पर दक्षिण अफ्रीका की टीम नंबर एक ही हुआ करती थी। कुछ इसी तरह का ग्रीम स्मिथ का कप्तानी करने का तरीका होता था वह विरोधी टीमों को किसी भी प्रकार का मैच में वापसी का कोई भी मौका नहीं देते थे।

रिकी पोंटिंग 48 टेस्ट जीत

ऑस्ट्रेलियाई टीम के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग को हम उनकी बल्लेबाजी के लिए और एक कप्तान के तौर पर उन्हें एक ऐसे स्थान पर रखा जाता है जहां पर कप्तानी की जब बात आती है तो उन की मिसाल दी जाती है। आंकड़े भी रिकी पोंटिंग की बेहतर कप्तानी की वजह है। ऑस्ट्रेलिया को दो बार वनडे विश्व कप जिताने वाले ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रिकी पोंटिंग टेस्ट कप्तान के तौर पर भी बेहद शानदार कप्तानी रहे हैं।स्टीव वॉ ने जब कप्तानी छोड़ी तो रिकी पोंटिंग ने ऑस्ट्रेलियाई टीम की वही बादशाहत बरकरार रखते हुए लंबे समय तक शानदार प्रदर्शन किया। रिकी पोंटिंग की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया का वह दौर याद किया जाता है जब विरोधी टीम ऑस्ट्रेलिया को अरसे में एक बार हरा पाती थी। इस बात में कोई भी अतिशयोक्ति नहीं है कि जब तक रिकी पोंटिंग ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रहे थे तब तक ऑस्ट्रेलिया टीम को हरा पाना किसी भी टीम के लिए कहीं से भी आसान नहीं होता था। रिकी पोंटिंग के नाम टेस्ट क्रिकेट में कप्तान के तौर पर 48 टेस्ट जीत दर्ज है।

स्टीव वॉ 41 टेस्ट जीत

ऑस्ट्रेलिया टीम के पूर्व कप्तान स्टीव वॉ को क्रिकेट इतिहास का सबसे चतुर कप्तान भी कहा जाता है। ऐसा कहा जाता है कि स्टीव वॉ बल्लेबाज की तकनीक देखकर समझ जाते थे कि वह कौन सा शॉट खेलने वाला है और स्टीव अपने गेंदबाज से उसी तरह की गेंद करने को कहते थे जिससे विकेट मिल जाए। इसी कारण स्टीव वॉ को सबसे चतुर कप्तान कहा जाता है। और स्टीव वॉ ने लंबे समय तक ऑस्ट्रेलियाई टीम की कप्तानी की है। 1999 विश्व कप जिताने वाले ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान स्टीव वॉ के नाम टेस्ट मैच में 41 टेस्ट जीत दर्ज है।

विराट कोहली 37 जीत : भारतीय टीम के धाकड़ बल्लेबाज और रन मशीन कहे जाने वाले विराट कोहली ने 2014 में भारत की टेस्ट टीम की कप्तानी संभाली थी जब महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी कप्तानी और टेस्ट क्रिकेट से रिटायरमेंट का ऐलान किया था तो विराट कोहली को भारत का कप्तान बनाया गया था। 7 साल में ही विराट कोहली ने अपनी कप्तानी का एक अलग ही नमूना पेश किया है। बेहद कम समय में विराट कोहली बड़े-बड़े कप्तानों की फेहरिस्त में चौथे स्थान पर आ गए हैं जिनके नाम बतौर कप्तान टेस्ट क्रिकेट में 37 जीत दर्ज हो गई है। और अभी भी विराट कोहली के पास लंबा समय बचा हुआ है जिसमें वह कप्तानी करते हुए वहां पहुँच सकते है जहां पर कोई कप्तान नहीं पहुंचा है।

क्लाइव लॉयड 36 टेस्ट जीत

वेस्टइंडीज की टीम को दो बार वनडे विश्व कप जिताने वाले क्लाइव लॉयड बेहद ही अनुभवी कप्तान रहे हैं। इस बात में कोई दो राय नहीं है कि क्लाइव लॉयड की कप्तानी में वेस्टइंडीज की टीम उस स्तर पर पहुंची थी जहां वेस्टइंडीज टीम से दुनिया भर की टीमें खौफ खाती थी। और यह बात आंकड़ों में भी दिखाई देती है। क्लाइव लॉयड ने बतौर टेस्ट कप्तान वेस्टइंडीज के लिए कप्तानी करते हुए 36 टेस्ट जीत हासिल की हैं।

MUST READ