वो मैच जिसके बाद विराट कोहली और गौतम गंभीर की दोस्ती दुश्मनी में बदल गई

Liberal Sports Desk : भारतीय टीम के मौजूदा कप्तान विराट कोहली और भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी गौतम गंभीर की दोस्ती का नजारा उस वक्त देखने मिला था जब विराट कोहली ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना पहला शतक लगाया था।और गौतम गंभीर ने अपना मैन ऑफ द मैच का अवार्ड विराट कोहली को सादर रूप से प्रदान कर दिया था। और गौतम गंभीर ने कहा था कि मैं युवाओं को हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता हूं और इसी के तहत मैंने अपना मैन ऑफ द मैच का अवार्ड विराट कोहली को दिया है। और इस तरह से विराट कोहली और गौतम गंभीर की दोस्ती की शुरुआत हुई थी।

आईपीएल के मैच के दौरान दोनों में हुई थी जमकर कहासुनी

2013 आईपीएल सीजन में बेंगलुरु और कोलकाता के बीच एक मुकाबला खेला जा रहा था। कोलकाता की ओर से लक्ष्मीपति बालाजी गेंदबाजी कर रहे थे और विराट कोहली बल्लेबाजी कर रहे थे। तभी विराट कोहली आउट होकर पवेलियन जाने लगे। तभी विराट कोहली ने अपना गुस्सा निकाला और खिलाड़ियों पर कहासुनी कि तभी गौतम गंभीर से यह बर्दाश्त नहीं हुआ और दोनों में जमकर कहासुनी हो गई। यह पहला मौका था जब गौतम गंभीर और विराट कोहली के बीच दोस्ती में दरार आई थी इसके बाद हर मौके पर गौतम गंभीर विराट कोहली को लेकर अपनी प्रतिक्रियाएं भी देने लगे। इसके बाद विराट कोहली भारतीय टीम के कप्तान बन गए और उन्हें कभी भी गौतम गंभीर को टीम में शामिल होने का मौका नहीं मिला। गौतम गंभीर का प्रदर्शन 20 स्तर का नहीं रहा था कि उन्हें वापस टीम इंडिया में मौका मिले।

विराट कोहली शुरू से ही आक्रामक रवैया के खिलाड़ी रहे थे लेकिन गौतम गंभीर उस वक्त कोलकाता नाइट राइडर्स की कप्तानी करते थे और अपनी टीम को जिताने के लिए भी भरसक प्रयास करते थे इसी के तहत उस मुकाबले में यह गहमागहमी हुई थी हालांकि उस मुकाबले के बाद दोनों ने आपस में बातचीत भी की थी लेकिन कहीं ना कहीं यह दोस्ती दोबारा नहीं हो सकी

MUST READ