यूपी चुनाव की परफॉर्मेंस से तय होगा 2024 का लीडर

उत्तर प्रदेश का चुनाव सिर्फ एक पार्टी के लिए नहीं बल्कि कांग्रेस समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी के लिए बेहद अहम होगा क्योंकि यहां पर जिसका बेहतरीन परफॉर्मेंस होगा वह 2024 चुनाव के लिए न केवल दावेदारी प्रस्तुत करेगा बल्कि यह संकेत भी देगा कि हम बेहतर परफॉर्मेंस आम चुनाव में भी कर सकते हैं और यूपी के चुनाव के परिणाम ही तय करेंगे कि यूपीए गठबंधन कितना ताकतवर हो सकता है और इसके साथ ही यह भी तय होगा कि 2024 के चुनाव में यूपीए का नेतृत्व कौन करेगा क्योंकि कांग्रेस में नेतृत्व को लेकर सबसे बड़ी उहापोह की स्थिति इन दिनों बनी हुई है पंजाब में भी चुनाव होने हैं उत्तराखंड में भी चुनाव होने हैं और 2 साल बाद कर्नाटक में भी चुनाव होने हैं इस तरह से देखा जाए तो राष्ट्रीय परिदृश्य की राजनीति में क्या होगा ,यूपीए के साथ और कौन से दल जुड़ेंगे यह सब कुछ सोचने वाली बात हो जाएगी वैसे उत्तर प्रदेश चुनाव में जिस तरह से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बागडोर संभाली है यह तय है कि अगर कांग्रेस का परफॉर्मेंस बेहतर रहा और बीजेपी का वोट बैंक फिसला तो एक उभरती लीडर के रूप में न केवल प्रियंका गांधी आगे आएंगी बल्कि 2024 का भविष्य क्या होगा यह संकेत भी मिल जाएगा लेकिन फिलहाल 3 दिन के दौरे उत्तर प्रदेश पहुँची प्रियंका पर पूरी तरह से न केवल बीजेपी की नजर है बल्कि क्षेत्रीय दल भी उन पर नजर जमाए हुए हैं जाहिर सी बात है लोकसभा चुनाव में प्रियंका गांधी बेहतर परफॉर्मेंस नहीं दे पाई लेकिन किसी की असफलता से यह तय नहीं किया जा सकता कि आने वाले वक्त में बेहतर परफॉर्म नहीं कर सकती हैं लिहाजा नेतृत्व के दिशा से आने वाली तस्वीर भी तय होगी।

2024 का बड़ा खेल

दरअसल राजनीति में आने वाले भविष्य के लिए समीकरण बनने पहले से ही शुरू हो जाते हैं कुछ ऐसा ही कांग्रेस के अंदर भी चल रहा है 2024 के चुनाव में प्रधानमंत्री मोदी के फैसले पर सवाल उठाते हुए और उनकी नाकामी पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस सत्ता के शिखर पर फिर वापस पहुंचना चाहती है लेकिन इस बार हाल थोड़ा सा बदला हुआ है इस बार कांग्रेस में नेता भी छिटकते जा रहे हैं ऐसे में नए दलों को जोड़ना कांग्रेस में ऊर्जा का संचार करना यह सब करने के लिए कांग्रेस लीडरशिप आगे आ रही है और पहले की तरह से भरोसा इस बार भी गांधी परिवार पर ही कार्यकर्ताओं का जम रहा है लखनऊ का प्रियंका गांधी का दौरा भी कुछ यही संकेत कर रहा था जब उनका स्वागत करने के लिए भीड़ उमड़ रही थी जाहिर सी बात है एक ऐसी छवि प्रियंका गांधी ने कम समय पर बना ली है जो भविष्य के लीडर के रूप में भी उभर कर सामने आ सकती है तो क्या इन संकेतो से समझा जा सकता है कि 2024 का चेहरा प्रियंका गांधी भी हो सकती है जाहिर सी बात है जैसे जैसे समय आगे बढ़ेगा इस पर मोहर भी लगते जाएगी

MUST READ