रूपये की कीमत में गिरावट चुभने वाला मुद्दा , मायावती बोली – सरकार की कृपा से भारत के उद्योगपति बने दुनिया के धन्नासेठ

उत्तरप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती ने देश में गरीबो की स्तिथि को लेकर केंद्र की भाजपा सरकार को घेरा है। मायावती ने केंद्र सरकार पर निजीकरण के जरिये उद्योगपतियों की मदद करने के भी आरोप लगाए हैं। शनिवार को ट्वीट करते हुए मायावती ने रूपये में आये दिन दर्ज हो रही गिरावट को चुभने वाला मुद्दा बताया है।

बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि सरकारी कृपादृष्टि के कारण भारत के उद्योगपतियों की निजी पूंजी में अभूतपूर्व वृद्धि होने से अब विश्व के धन्नासेठों में उनकी गिनती है, परन्तु देश में करीब 130 करोड़ गरीब व निम्न आय परिवारों के जीवन में थोड़ा भी सुधार नहीं होना अति-चिन्ता की बात। बसपा प्रमुख ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार इस खाई को कैसे पाटेगी?

बसपा चीफ ने एक और ट्वीट किया जिसमे उन्होंने कहा कि भारतीय रुपये के मूल्य में अनवरत गिरावट चुभने वाला संवेदनशील मुद्दा है। देश के विदेशी मुद्रा भण्डार में भी लगातार कमी की खबरें अब लोगों को विचलित करने लगी हैं। ऐसे में भारतीय अर्थव्यवस्था को संभालने में यहाँ के उद्योगपतियों व धन्नासेठों की भूमिका क्या है, देश जानने को इच्छुक।

सोशल मीडिया के जरिये हावी हो रही मायावती

बसपा प्रमुख मायावती इन दिनों सोशल मीडिया में खासा एक्टिव हैं। आये दिन वे प्रदेश और देश के मुद्दों को लेकर अपनी बात रखती हैं। अपने ट्वीट के जरिये मायावती सरकार को घेरने का कोई भी मौका नहीं छोड़ रही हैं। गौरतलब है कि यूपी विधासनभा चुनाव में मिली हार के बाद मायावती के कंधो पर एक बार फिर प्रदेश में पार्टी की नीव को मजबूत करने की जिम्मेदारी है। ऐसे में मायावती अब सक्रीय हैं और लोकसभा चुनाव से पहले सत्तारूढ़ भाजपा सरकार के खिलाफ हमलावर हो रही हैं।

MUST READ