बिहार में अमित शाह के दौरे पर भड़के तेजस्वी यादव , बोले – वह गृहमंत्री नहीं लगे , क्या डराने आये थे ?

बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने पूर्णिया में हुई अमित शाह की रैली पर पलटवार किया है। अमित शाह बिहार दौरे पर निशाना साधते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि क्या वे यहाँ डराने आये थे , उन्हें देखकर नहीं लगा कि वे देश के गृहमंत्री हैं।

आरजेडी नेता और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा कि मैंने कहा था कि जब अमित शाह आएंगे तो बेकार की बात करेंगे। क्या हुआ 15 लाख देने का? कल मैंने प्रधामंत्री मोदी का 2014 का वीडियो ट्वीट किया था जिसमें बिहार पर विशेष ध्यान देने की बात थी। उन्होंने रोजगार पर बात नहीं कि महंगाई पर बात नहीं की.

तेजस्वी यादव बोले कि मैंने कहा था जब अमित शाह आएंगे तो कहेंगे की जंगल राज है। अमित शाह आप जहां दिल्ली में बैठते है वो अपराध में अव्वल नंबर पर आता है। एनसीआरबी के आकड़ों के मुताबिक दिल्ली में अपराध बिहार से अधिक है। देश की राजधानी सुरक्षित नहीं है.

अमित शाह को घेरते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि क्या वह यहां किसी को डराने आये था? वह देश के गृह मंत्री हैं लेकिन क्या ऐसा लगता था? मेरे लिए, वह न तो एक राजनीतिक नेता और न ही एक गृह मंत्री प्रतीत हुए। मैं यह नहीं कहना चाहता कि वह किस तरह प्रतीत हुए।

अमित शाह ने साधा था नीतीश – लालू पर निशाना

पूर्णिया में आयोजित रैली में गृहमंत्री अमित शाह ने कहा था कि आज मैं जब बिहार में आया हूं तब लालू और नीतीश की जोड़ी को पेट में दर्द हो रहा है।वो कह रहे हैं कि बिहार में झगड़ा लगाने आए हैं, कुछ करके जाएंगे।लालू जी झगड़ा लगाने के लिए मेरी जरूरत नहीं है, आप झगड़ा लगाने के लिए पर्याप्त हो, आपने पूरा जीवन यही काम किया है।

शाह ने यह भी कहा था कि नीतीश जी, लालू जी की गोद में बैठ गए हैं।अब यहां डर का माहौल बन गया है। लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि किसी को डरने की जरूरत नहीं है।आपके साथ नरेंद्र मोदी की सरकार है। आज भाजपा को धोखा देकर लालू की गोद में बैठकर नीतीश जी ने स्वार्थ और सत्ता की राजनीति का जो परिचय दिया है उसके खिलाफ बिगुज फूंकने की शुरुआत भी यही बिहार की भूमि से शुरुआत होगी।

MUST READ