रोहित शर्मा ने टेस्ट में ओपनिंग करने को लेकर बताया अपना सबसे बड़ा सच

Liberal Sports Desk : ओवल टेस्ट मैच में रोहित शर्मा के शतक लगाने के बाद रोहित शर्मा ने उन लोगों को भी करारा जवाब दे दिया है जो यह कहते थे कि रोहित शर्मा टेस्ट मैच के प्लेयर नहीं है। सबसे पहले रोहित शर्मा ने टेस्ट मैच में शानदार बल्लेबाजी करके दिखाया उसके बाद जब रोहित शर्मा को टेस्ट मैच में पहली बार सलामी बल्लेबाज के रूप में खेलने का मौका मिला तो रोहित शर्मा ने अपने प्रदर्शन से उन सभी आलोचकों का मुंह बंद कर दिया है जो यह कहते थे कि रोहित शर्मा सिर्फ वनडे और टी-20 फॉर्मेट के ही प्लेयर हैं और टेस्ट मैच का नया गेंद जाकर नहीं खेल सकते हैं लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ खेली जा रही मौजूदा टेस्ट सीरीज में रोहित शर्मा ने उन सभी आलोचकों का करारा जवाब दे दिया है।

ओवल टेस्ट मैच में 127 रनों की शानदार शतक की पारी खेलने के बाद जब रोहित शर्मा से यह पूछा गया कि टीम मैनेजमेंट के द्वारा शीर्ष क्रम में टेस्ट मैच में बल्लेबाजी करने के फैसले को हरी झंडी मिलने के बाद क्या यह सबसे बड़ा आपके लिए जोखिम भरा फैसला था। इसका जवाब देते हुए रोहित शर्मा ने कहा कि हां कह सकते हैं।

रोहित शर्मा ने कहा कि “मुझे पता था कि यह मेरा एक सलामी बल्लेबाज के रूप में अंतिम मौका हो सकता है इसलिए मैं अन्य स्थानों पर भी खेलने की कोशिश कर रहा था। रोहित शर्मा ने आगे कहा कि जब मेरे पास टेस्ट मैच में सलामी बल्लेबाजी करने को लेकर प्रस्ताव आया था तब मुझे इसकी जानकारी थी। क्योंकि टीम प्रबंधन के द्वारा ओपनिंग बल्लेबाजी को लेकर चर्चा चल रही थी। मानसिक रूप से मैं इस चुनौती के लिए तैयार था। यह देखना चाह रहा था कि मैं ओपनिंग बल्लेबाजी में क्या अच्छा कर सकता हूं।

शर्मा ने कहा कि “ मुझे पता था कि मुझे बहुत मौके नहीं मिलेंगे क्योंकि मध्यक्रम में बल्लेबाजी करते हुए मेरा प्रदर्शन कोई खास नहीं रहा था। शर्मा ने कहा कि मुझे पता था कि मैंने मध्यक्रम में बल्लेबाजी की है और जैसा प्रदर्शन में चाहता था वैसा नहीं हो पाया था। यह मेरा आखरी मौका भी हो सकता था क्योंकि प्रबंधन भी यह जानता था कि मैं लगातार कोशिश कर रहा हूं।

रोहित शर्मा ने आगे कहा कि जब आप खेल रहे होते हैं तो आप मौकों को भुनाना चाहते हैं और आपको हमेशा मौकों को भुनाना पड़ता है। इसलिए आप कह सकते हैं कि मैं इसके लिए तैयार था। और मेरे पास यह मौका अचानक से नहीं आया। कह सकते हैं कि अगर मैं इस पारी में सफल नहीं होता तो यह मेरा आखरी मौका हो सकता था।

MUST READ