‘विपक्षी नेताओ से मुलाकात कर दूर करें ग़लतफहमी ‘ पूर्व राष्ट्रपति नायडू ने पीएम मोदी को क्यों दी ये सलाह ?

देश के पूर्व उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को एक कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी को विपक्षी दलो के नेताओ के साथ मुलाकात बढ़ाकर कुछ गलतफहमियों को दूर करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके तरीकों के बारे में विपक्षी दलों की कुछ “गलतफहमी” को दूर करने के लिए सभी पक्षों के राजनीतिक नेताओं के साथ बातचीत करनी चाहिए।

दरअसल प्रधानमंत्री के भाषणों पर एक पुस्तक के विमोचन के अवसर पर पूर्व राष्ट्रपति नायडू ने स्वास्थ्य, विदेश नीति, प्रौद्योगिकी जैसे विविध क्षेत्रों में उपलब्धियों के लिए पीएम मोदी की प्रशंसा की और कहा कि दुनिया अब भारत के उदय को पहचान रही है।

पीएम मोदी दूर करें ग़लतफहमी

पूर्व राष्ट्रपति नायडू ने कहा कि भारत अब एक ताकत बन गया है, इसकी आवाज अब दुनिया भर में सुनाई दे रही है। इतने कम समय में, यह कोई सामान्य बात नहीं है। यह उनके कार्यों के कारण है, जो मार्गदर्शन वह लोगों को दे रहे हैं। हालांकि, उन्होंने कहा कि पीएम मोदी की उपलब्धियों के बावजूद, कुछ वर्गों को अभी भी “कुछ गलतफहमी के कारण, शायद कुछ राजनीतिक मजबूरियों के कारण” उनके तरीकों के बारे में कुछ आपत्तियां हैं।

पूर्व राष्ट्रपति नायडू ने कहा, “समय के साथ, इन गलतफहमियों को भी दूर कर दिया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी को अक्सर राजनीतिक नेतृत्व के अधिक से अधिक वर्गों से मिलना चाहिए चाहे फिर वह इस तरफ के हो या दूसरी तरफ के। नायडू ने कहा कि राजनीतिक दलों को भी खुले दिमाग रखना चाहिए और जनादेश का सम्मान करना चाहिए।

खुले विचार वाली हो विपक्षी पार्टियां

देश के पूर्व राष्ट्रपति नायडू ने विपक्षी पार्टियों को लेकर कहा कि उन्हें भी खुले विचारों वाला होना चाहिए … आप सभी को यह भी समझना चाहिए कि आप दुश्मन नहीं प्रतिद्वंद्वी हैं। सभी दलों को एक-दूसरे का सम्मान करना चाहिए, प्रधान मंत्री की संस्था, राष्ट्रपति की संस्था, मुख्यमंत्री की संस्था। सभी संस्थान इसका सम्मान किया जाना चाहिए जिसे सभी को ध्यान में रखना होगा।”

MUST READ