राजीव गांधी के नाम पर अब महाराष्ट्र सरकार देगी पुरस्कार, खेल रत्न से नाम हटाए जाने का किया था विरोध

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम से अब महाराष्ट्र सरकार ने पुरस्कार देने का फैसला किया है। आईटी के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य करने के लिए कंपनियों को यह अवार्ड महाराष्ट्र सरकार के द्वारा दिया जाएगा यह पुरस्कार आईटी कंपनियों को मिलेगा जिनके काम से समाज को मदद मिलेगी। महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने इस पुरस्कार का नाम “राजीव गांधी अवॉर्ड फॉर एक्सीलेंस इन आईटी सेक्टर” रखने का फैसला किया है ।

बता दें कि हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा खेल रत्न पुरस्कारों से राजीव गांधी का नाम हटाकर मेजर ध्यानचंद के नाम पर दिए जाने का निर्णय लिया गया था जिसके बाद महाराष्ट्र सरकार ने इस फैसले की आलोचना की थी। वहीं अब महाराष्ट्र सरकार ने राजीव गांधी के नाम पर इस पुरस्कार की घोषणा कर केंद्र सरकार के फैसले पर भी तंज कसने का प्रयास किया है।

महाराष्ट्र सरकार की ओर से बताया गया कि यह पुरस्कार भारत के प्रधानमंत्री रहे राजीव गांधी के द्वारा देश में 1984 से 1989 तक आईटी क्षेत्र को प्रोत्साहन देने में योगदान को सम्मानित करने के लिए है बताया गया कि यह पुरस्कार हर साल राजीव गांधी की जयंती यानी कि 20 अगस्त को दिया जाएगा वही पुरस्कारों के चयन के लिए रूपरेखा तय करने के लिए महाराष्ट्र सूचना और प्रौद्योगिकी निगम नोडल एजेंसी रहेंगी। बता दें कि राज्य की गठबंधन सरकार में कांग्रेस शिवसेना के साथ सहयोगी पार्टी है राज्य में शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी के महाविकास आघाडी गठबंधन की सरकार है।

MUST READ