नीरज चोपड़ा और बजरंग पुनिया 2 साल पहले सरकार से लगा रहे थे इनामी राशि का वादा पूरा करने की गुहार,जमकर फूटा था गुस्सा..

टोक्यो ओलंपिक में भारत के लिए गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रचने वाले नीरज चोपड़ा के साथ-साथ पदक जीतने वाले बजरंग पुनिया एवं अन्य ओलंपिक खिलाड़ियों पर सरकार ने करोड़ों के इनामों की घोषणा कर दी है। अलग अलग राज्य सरकारें अलग-अलग इनामी राशि की घोषणा करने में लगी हुई है। देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री भी इन पदकों का जश्न मना रहे हैं खिलाड़ियों को शाबाशी दे रहे हैं। वही खिलाड़ियों की सफलता का श्रेय लूटने की भी होड़ मची हुई है। लेकिन एक ऐसा भी दौर था जब यही स्वर्ण पदक विजेता खिलाड़ी ओलंपिक खेलों की तैयारियों के दौरान संघर्ष करते नजर आ रहे थे और सरकार से सुविधाओं और उनके ऊपर घोषित की गई इनामी राशि के वायदों को पूरा करने की गुहा लगा रहे थे।

नीरज चोपड़ा ने हरयाणा सरकार से लगाई थी गुहार,इनामी राशि का वायदा करे पूरा..

नीरज चोपड़ा ने लगभग 2 साल पहले जून 2019 में ट्वीट कर सरकार से इनामी राशि के वादों को पूरा करने के लिए कहा था नीरज चोपड़ा ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और गृह मंत्री अनिल विज से यह गुहार लगाते हुए कहा था कि” सर जब हम मेडल जीतकर आते हैं तो पूरा देश खुश होता है और आप भी गर्व से कहते हैं कि हमारे हरियाणा के खिलाड़ी हैं हरियाणा के खिलाड़ियों ने खेल जगत में अपनी अलग से छाप छोड़ी है दूसरे राज्य में हरियाणा की मिसाल देते हैं कृपा करके इस मिसाल को कायम रहने दीजिए और आपने जो खिलाड़ियों को इनाम राशि देने का वादा किया था कृपया उसे पूरा करें ताकि हम इन चीजों से ध्यान हटाकर अपना पूरा फोकस आने वाले ओलंपिक खेलों पर लगा सकें और अपने देश व राज्य का नाम रोशन कर सकें”।

बजरंग पूनिया ने हरियाणा सरकार को बताया था,झूठा पीएम को भी किया था ट्वीट,जमकर बरसा था गुस्सा

भारत के पहलवान बजरंग पूनिया ने टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतकर देश का नाम रोशन किया इसके बाद हरियाणा सरकार ने एक बार फिर से उन पर करोड़ों के इनाम की घोषणा तो कर दी है लेकिन बता दें कि 2 साल पहले बजरंग पूनिया इनामी राशि के वादे को पूरा न करने पर हरियाणा सरकार पर जमकर बरसे थे। बजरंग पूनिया ने ट्वीट कर हरियाणा सरकार का जमकर विरोध भी किया था बजरंग ने कहा था कि” खिलाड़ी जब मेडल आता है तो वह देश के लिए जीत होती है यह 1 दिन की मेहनत से नहीं बल्कि पूरे जीवन की तपस्या से प्राप्त होता है खिलाड़ियों को मिलने वाली राशि में कटौती करके उनकी मानसिकता और आत्म सम्मान पर ठेस ना पहुंचाएं मेरी सरकार से विनती है कि इस निर्णय पर फिर से विचार करे’।

पुनिया ने मुख्यमंत्री खट्टर को ट्वीट करते हुए कहा था ‘ जब खिलाड़ियों को आप पुरस्कार का वायदा करते हैं तब उन खिलाड़ियों को आपने पैसे का लालच नहीं बल्कि खिलाड़ियों का साथ देने का वादा करते हैं अगर आप अपने किए वायदों को पूरा नहीं कर सकते तो फिर भविष्य में कोई भी खिलाड़ी आपसे एक किस बात की उम्मीद रखें”। बजरंग पुनिया ने कहा था कि मेरा मुद्दा सिर्फ इनामी राशि में कटौती करने का नहीं है हरियाणा सरकार के किए गए कई झूठे वायदे जैसे कि कैडेट खिलाड़ियों को मिलने वाली राशि को बंद करना और नौकरी देने के झूठे दावे को सामने लाना भी है बजरंग ने कहा था कि खिलाड़ियों को झूठा और लालची साबित करने पर तुली हरियाणा सरकार से विनती है कि आप अपनी झूठ बोलने की आदत को बदलने जय योगेश्वर पहलवान को इनामी राशि मिली थी तो वह हुड्डा सरकार की खेल नीति के अनुसार दी गई थी और राशि में कटौती नहीं हुई थी।

MUST READ