बागेश्वर बाबा के खिलाफ नहीं मिला अन्धविश्वास फ़ैलाने का सबूत , नागपुर पुलिस ने दी क्लीनचिट

मध्यप्रदेश के छतरपुर स्तिथ बागेश्वर धाम के पीठाधीस्वर धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री को नागपुर पुलिस ने क्लीनचिट दे दी है। महाराष्ट्र की नागपुर पुलिसने प्रेस को दी गई सूचना में बताया है कि बागेश्वर धाम के वीडियोज में ऐसा कुछ भी नहीं पाया गया है जिससे यह कहा जा सके कि वे अंधविश्वास फैला रहे है। इससे पहले सोमवार को बागेश्वर बाबा के खिलाफ अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति के श्याम मानव ने आरोप लगाते हुए यह शिकायत दर्ज करवाई थी कि उनके पास कोई सिद्धि नहीं है और वे ढोंग रच रहे हे और अंध विश्वास फैला रहे हैं।

नागपुर पुलिस ने कहा कि 7-8 जनवरी के दरबार से जुड़े वीडियो की पड़ताल की गई जिसमे पूरी पड़ताल के बाद वीडियो में ऐसा कुछ नहीं मिला जिसे लेकर अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति ने अंधविश्वास फैलाने का आरोप लगाया था।

यह पूरा विवाद तब उठा जब धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री नागपुर में कथा करने गए हुए थे। इस बीच अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के श्याम मानव ने बाबा को चुनोती दी थी कि वे नागपुर में आकर उन्हें चमत्कार दिखाए, अगर वे ऐसा करेंगे तो उन्हें 30 लाख रुपए दिए जायेंगे। नागपुर में 5 से 11 जनवरी के दौरान पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने बागेश्वर धाम का दरबार लगाया था। श्याम मानव का आरोप है कि उनकी चुनोती के बाद धीरेंद्र शास्त्री कथा अधूरी छोड़ कर चले गए थे।

MUST READ