सोमवार से संसद का मानसून सत्र, PM मोदी ने विपक्ष को परास्त करने मंत्रियों को दिए टिप्स

संसद का मानसून सत्र सोमवार से शुरू हो जाएगा यह सत्र इस बार विपक्ष के लिए भी बेहद खास होगा तो सत्ता पक्ष के लिए चुनौती भरा हो सकता है ऐसे मुद्दे जो सीधे सीधे जनता से जुड़े रहे विपक्ष इस सत्र में उठाने वाला है जाहिर सी बात है इसकी तैयारी के लिए भी प्रधानमंत्री मोदी ने अपने मंत्रियों को टास्क दे दिए हैं प्रधानमंत्री मोदी ने सभी मंत्रियों को कहा है कि वे पूरी तरह से अपने विभाग से जुड़े मसलों पर होमवर्क करके आए किसी भी तरह से हमको बैकफुट पर नहीं जाना है और तेजी से विपक्ष के हमलों पर न केवल जवाब देना है बल्कि उसका डिफेंस भी करना है जाहिर सी बात है कि पूरी रणनीति प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में ही तैयार की जा रही है वैसे भी प्रधानमंत्री मोदी स्वयं सदन के अंदर अपनी रणनीति तैयार करते आ रहे हैं लिहाजा मंत्रियों को भी इस टास्क के जरिए अब गुजरना होगा

ऐसा होगा सोमवार से शुरू होने जा रहा सत्र

संसद का मॉनसून सत्र सोमवार से शुरू होने जा रहा है। मॉनसून सत्र के दौरान लोकसभा और राज्यसभा की बैठक हर दिन सुबह 11 बजे से शाम छह बजे तक होगी। मॉनसून सत्र 13 अगस्त तक चलना है। इसमें छुट्टियों के अलावा कुल 19 दिन ही कार्यवाही होगी। इस सत्र में मोदी सरकार पर विपक्ष कोरोना की दूसरी लहर, राफेल विमान सौदे में कथित तौर पर भ्रष्टाचार का पुराना मुद्दा, कोरोना टीके की कमी, महंगाई और कृषि कानूनों के मसले पर हमला बोलने की तैयारी में है। ऐसे में प्रधानमंत्री मोदी ने इन सब मुद्दों पर जवाबी कार्यवाही करने के लिए सभी मंत्रियों को तैयार होने के लिए कहा है मोदी ने सभी मंत्रियों से कहा है कि वे अपने मंत्रालयों से जुड़ी सभी जानकारियों के साथ रोज सदन में आएं। इससे विपक्ष की ओर से उठाए जाने वाले सवालों का ठीक से काउंटर हो सकेगा। इसके साथ ही सभी राज्य मंत्रियों को खास तौर से उच्च सदन यानी राज्यसभा में ज्यादातर वक्त बिताने के निर्देश भी पीएम मोदी ने दिए हैं। तमाम मंत्री नए हैं और मोदी चाहते हैं कि वे उच्च सदन में बैठकर ये जानें कि सदन में सार्थक रूप से चर्चा किस तरह होती है।

आपको बता दे कि पीएम मोदी संसद में होने वाली बहसों पर खुद नजर रखते हैं। वह जब किसी मसले पर खुद बोलते हैं, तो उससे पहले पूरा होमवर्क भी करते हैं। पिछले सात साल में हमेशा देखा गया है कि पीएम ने अपने जवाब से लोकसभा और राज्यसभा में विपक्ष की बोलती बंद कर दी है। आंकड़ों को सामने रखकर वह अपनी बात रखते हैं। मोदी का यही स्टाइल इस सत्र में भी नजर आएगी

MUST READ