यूपी में भाजपा की जन आशीर्वाद यात्रा पर मायावती का वार ,कहा – बहतर होता यदि निकाली जाती बाढ़ पीड़ित मदद यात्रा

उत्तर प्रदेश में इन दिनों दो प्रकार की बाढ़ के हालात बने हुए हैं एक वह जो आसमान से बरसी बारिश की वजह से निर्मित हुई है तो दूसरी सियासी बाढ़ है जो अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर बनी हुई है। दोनों बाढ़ के इन हालातों के बीच उत्तर प्रदेश में आज से भाजपा की जन आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत हुई है।

भाजपा की इसी जन आशीर्वाद यात्रा को लेकर अब बसपा प्रमुख मायावती ने भाजपा पर वार किया है। मायावती ने कहा कि भाजपा ने आज से अपनी जन आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत की है बेहतर होता यदि भारतीय जनता पार्टी के के द्वारा इस यात्रा को बाढ़ पीड़ित मदद यात्रा के रूप में निकाला जाता। भाजपा की जन आशीर्वाद यात्रा पर हमला करते हुए मायावती ने कहा कि कोरोना महामारी के इन हालातों के बीच भाजपा की जन आशीर्वाद यात्रा में सरकार कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों को कितना निभा पाएगी यह देखने वाली बात होगी।

बाढ़ की आड़ में भाजपा कर रही घिनौनी राजनीति

बसपा प्रमुख मायावती ने भाजपा पर यह भी आरोप लगाए हैं कि भाजपा के द्वारा बाढ़ की आड़ में घिनौनी राजनीति की जा रही है मायावती ने कहा कि जब से उत्तर प्रदेश में बसपा के तत्वाधान मे प्रबुद्ध वर्ग के कार्यक्रम हो रहे हैं तब से भाजपा को काफी बौखलाहट हो रही है इसी के चलते भाजपा बाढ़ की आड़ में घिनौनी राजनीति कर रही है मायावती ने कहा कि केवल हवाई दौरा करने से बाढ़ पीड़ितों की समस्या का हल नही होने वाला है।

बता दें कि इससे पहले भाजपा के द्वारा पोस्टर के जरिए बसपा और सपा पर हमला किया गया था जिसमें ट्विटर पर एक पोस्टर शेयर करते हुए बताया गया की उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बाढ़ के हालातों का जायजा ले रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव साइकिल से घूम रहे हैं तो बसपा सुप्रीमो मायावती जातिवाद सम्मेलन करने में व्यस्त हैं।

MUST READ