यूपी के प्री पोल सर्वे में भाजपा को सबसे आगे दिखाए जाने पर भड़की मायावती ,कहा – बसपा का मनोबल गिराने का है प्रयास

उत्तरप्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी में सभी राजनैतिक पार्टियां पूरी दमखम के साथ जुटी हुई हैं। उत्तरप्रदेश की सत्ता हासिल करने के लिए सभी दल एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं। भाजपा ,सपा ,बसपा और कांग्रेस मुख्य रूप से सियासी मैदान में नजर आ रही हैं और सभी पार्टियां यूपी में 400 से अधिक सीट जीतने का दवा भी ठोक रही हैं लेकिन इसी बीच एक न्यूज़ चैनल का प्री पोल सर्वे सामने आया जिसमे भाजपा को यूपी चुनाव में सबसे ज्यादा सीट जीतने वाली पार्टी बताया गया। सर्वे में भाजपा को सबसे आगे देखकर मायावती भड़क उठी और उन्होने इस सर्वे को एक सिरे से झूठा करार दिया। यही नहीं मायावती ने सर्वे को भाजपा को खुश करने के लिए किया गया बता दिया।

सर्वे से भड़की मायावती ने कहा कि एक हिंदी न्यूज़ चैनल द्वारा यूपी में होने वाले विधानसभा चुनावो में भाजपा का वोट प्रतिशत पिछली बार के 40 प्रतिशत से भी अधिक दिखाने का प्री पोल सर्वे प्रायोजित ही नहीं बल्कि लोगो को हवा हवाई ,शरारतपूर्ण और भ्रमित करने वाला ही ज्यादा लगता है। मायावती ने कहा कि इससे इनका मकसद भाजपा को मजबूत दिखाते रहने से ज्यादा बसपा के लोगो का मनोबल गिराना ही लगता है। इन्हे पता होना चाहिए कि बसपा के लोग इस प्रकार के षडयंत्रो का सामना करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। वे इस सर्वे के बहकावे में नहीं आने वाले हैं।

बता दे कि सर्वे में बताया गया है कि यूपी में होने वाले चुनाव में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की लोकप्रियता 40 प्रतिशत है ,अखिलेश यादव की 28 प्रतिशत ,मायावती की 15 और प्रियंका गाँधी की सिर्फ 3 प्रतिशत ही लोकप्रियता है।साथ ही अन्य को 12 प्रतिशत लोगो ने अपनी पसंद बताई है।वहीँ वोट प्रतिशत की बात करें तो भाजपा गठबंधन को 42 प्रतिशत लोगो ने पसंद बताया है। सपा को 30 प्रतिशत और बसपा को 16 प्रतिशत लोगो ने अपनी पसंद के रूप में बताया है तो वहीँ कांग्रेस को मात्र 5 प्रतिशत। इस प्रकार व्यक्तिगत लोकप्रियता में मायावती को तीसरे और पार्टी पसंद के रूप में भी बसपा को तीरे स्थान पर बताया गया है।

MUST READ