यूपी चुनाव में माफियाओं को बसपा में नही मिलेगी एंट्री ,मायावती ने किया बड़ा ऐलान

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर अब प्रत्याशियों के नाम पर भी कवायद शुरू हो चुकी है। यूपी की सत्ता में काबिज होने के लिए सभी दल बेहतर से बेहतर प्रत्याशियों को जनता के सामने उतारने के प्रयास में जुटे हुए हैं । ऐसे में सभी दलों का प्रयास है कि जनता के सामने ऐसे प्रत्याशियों को उतारा जाए जिनकी छवि स्वच्छ हो और जनता के बीच में लोकप्रिय हो लेकिन लंबे समय से यूपी की सियासत में माफियाओं और बाहुबलियों का दबदबा देखा जा रहा है लेकिन अब बहुजन समाज पार्टी ने चुनाव में माफियाओं की एंट्री पर रोक लगा दी है।

बीएसपी चीफ मायावती ने यह ऐलान किया है कि 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी किसी भी बाहुबली व माफिया को पार्टी से चुनाव नहीं लड़ाएगी उन्हें टिकट नहीं दिया जाएगा। सीधे तौर पर यह ऐलान मायावती ने उत्तर प्रदेश के माफिया मुख्तार अंसारी के लिए किया है जिनके नाम पर लंबे समय से सियासत गरमाई हुई है। मायावती ने कहा है कि अब मुख्तार अंसारी के टिकट पर बीएसपी प्रदेश अध्यक्ष भीम राजभर को उतारा जाएगा।

बीएसपी प्रमुख मायावती ने ट्वीट करते हुए कहा कि बीएसपी का आगामी यूपी विधानसभा आम चुनाव में प्रयास होगा कि किसी भी बाहुबली व माफिया आदि को पार्टी से चुनाव ना लगाया जाए इसके मद्देनजर ही आजमगढ़ मंडल की मऊ विधानसभा सीट से मुख्तार अंसारी का नहीं बल्कि यूपी बीएसपी के अध्यक्ष भीम राजभर के नाम को फाइनल किया गया है। मायावती ने कहा कि जनता की कसौटी उनकी उम्मीदों पर खरा उतारने के प्रयासों के तहत ही लिए गए इस निर्णय के फल स्वरुप पार्टी प्रभारियों से अपील है कि वे पार्टी उम्मीदवारों का चयन करते समय इस बात का खास ध्यान रखें ताकि सरकार बनने पर ऐसे तत्वों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने में कोई भी दिक्कत ना हो।

मायावती ने कहा कि बीएसपी का संकल्प कानून द्वारा कानून का राज के साथ ही यूपी की तस्वीर को भी अब बदल देने का है। ताकि प्रदेश व देश ही नहीं बल्कि बच्चा-बच्चा कहे की सरकार हो तो बहन जी की सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय जैसी। साथ ही बीएसपी जो कहती है वह करके भी दिखाती है यही पार्टी की सही पहचान भी है।

MUST READ