जो रुट ने दिखाई खेल भावना,चोटिल बल्लेबाज को नहीं किया गया रन आउट

Liberal Sports Desk :क्रिकेट के मैदान पर खेल भावना आमतौर पर देखने मिलती ही रहती है लेकिन कई बार खिलाड़ी विकेट लेने के लिए खेल भावना को दूर कर देता है क्योंकि क्रिकेट के खेल में खिलाड़ी को आउट करके ही मैच जीते जाते हैं।लेकिन इंग्लैंड के वाईटेलिटी ब्लास्ट टी 20 मैच के दौरान इंग्लैंड की टेस्ट टीम के कप्तान जो रूट अपनी घरेलू टीम की कप्तानी कर रहे थे। लंकाशायर के खिलाड़ी को रन लेते वक्त चोट लग गई तब जो रूट ने खेल भावना का अद्भुत परिचय देते हुए उन्हें रन आउट नहीं किया।

लंकाशायर और यॉर्कशायर के बीच मुकाबला खेला जा रहा था तभी मैच के 18वें ओवर में लंका शायर के खिलाड़ी स्टीवन क्राफ्ट रन लेते समय चोटिल हो गए और जो उन्हें इतनी तेज लगी कि वह आधी पेज पर ही लेट गए जिसके बाद खिलाड़ियों ने खेल भावना का अद्भुत परिचय देते हुए स्टीवेन क्राफ्ट को रन आउट करने से मना कर दिया।

हालांकि स्टीव क्रॉफ्ट ने अपने बल्लेबाजी जारी रखी और लंकाशायर को मैच जिताकर ही वापस लौटे। उन्होंने 26 रनों की पारी खेली।

जो रूट ने कहा “एक टीम के तौर पर हमने दबाव में बहुत मुश्किल फैसला किया। मुझे स्टीवन क्राफ्ट की चोट काफी गंभीर लग रही थी। मुझे यकीन है कि सबके पास इसे लेकर कई राय होगीं। कई लोगों ने इसे अलग तरह से संभालते। लेकिन मैंने इसे इसी तरह से संभाला।

MUST READ