क्या कमजोर है एशिया कप के लिए भारतीय टीम की तेज गेंदबाजी?

27 अगस्त से यूएई में होने वाले एशिया कप के लिए बीसीसीआई ने भारत की 15 सदस्यीय टीम का ऐलान कर दिया है जिसमें भारतीय टीम के प्रमुख तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और हर्षल पटेल चोट के कारण इस एशिया कप में भारतीय टीम का हिस्सा नहीं रहेंगे। ऐसे में युवा तेज गेंदबाज आवेश खान और अर्शदीप सिंह को भारतीय टीम में शामिल किया गया है और यह दो तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार के साथ भारतीय टीम में खेलते हुए दिखाई देंगे। ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यही है कि एशिया कप जैसे बड़े टूर्नामेंट में दो प्रमुख गेंदबाजों के ना होने से क्या भारतीय टीम का तेज गेंदबाजी आक्रमण कमजोर नजर आ रहा है?

भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण में नहीं है अनुभव

भारतीय टीम के एशिया कप के लिए चुनी गई टीम में तेज गेंदबाजी आक्रमण की बात करें तो भुवनेश्वर कुमार को अगर छोड़ दिया जाए तो अर्शदीप सिंह और आवेश खान ने अभी ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलना शुरू किया है। ऐसे में इन दोनों ही तेज गेंदबाजों के पास अनुभव की कमी है। और एशिया कप मुकाबला भी उस टीम के खिलाफ खेलना हैं जिससे भारत साल 2021 के विश्व कप में हारकर आ रही है। ऐसे में भारतीय टीम के लिए एशिया कप में पाकिस्तान को हराना आसान नहीं होने वाला है।

भुवनेश्वर कुमार और स्पिन गेंदबाज विभाग को लेनी होगी जिम्मेदारी

भारतीय टीम के गेंदबाजी आक्रमण की बात करें तो स्पिन गेंदबाजी विभाग में अनुभव देखा जा रहा है जिसमें युजवेंद्र चहल और रविचंद्रन अश्विन जैसे स्पिन गेंदबाजों का अनुभव शामिल है लेकिन तेज गेंदबाजी आक्रमण में भुवनेश्वर कुमार ही एकमात्र अनुभवी तेज गेंदबाज हैं ऐसे में जो बड़ी जिम्मेदारी है वह भुवनेश्वर कुमार युजवेंद्र चहल और रविचंद्रन अश्विन को लेनी होगी

MUST READ