भारतीय संविधान करता है लोगो का शोषण , केरल के मंत्री साजी चेरियन का विवादित बयान , गरमाई सियासत

भारतीय संविधान को लेकर केरल के मंत्री साजी चेरियन ने गैर संवैधानिक बयान दिया है। केरल के मंत्री साजी चेरियन ने देश के संविधान की आलोचना करते हुए इसे देश के लोगो को लूटने और शोषण करने वाला बताया है। मंत्री के इस बयान के बाद राज्य में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस और अन्य विरोधी पार्टियों ने जबरदस्त हमला बोला है।

केरल के मंत्री साजी चेरियन सीपीआईएम द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्य भाषण देने पहुंचे थे जहाँ उन्होंने कहा कि भारतीय संविधान लोगों का शोषण कर सकता है। अंग्रेजों ने इसे तैयार किया, भारतीयों ने इसे लिखा और इसे लागू किया। 75 साल हो गए। भारत ने एक सुंदर संविधान लिखा ताकि जिससे देश को लूटने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. मंत्री साजी चेरियन ने कहा कि उस संविधान में कुछ ऐसे स्थान हैं जहां धर्मनिरपेक्षता, लोकतंत्र के संदर्भ हैं लेकिन इसका फायदा उठाया जा सकता है.

विदेश राज्य मंत्री ने साधा निशाना

केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने कहा कि केरल के मंत्री साजी चेरियन ने अपने भाषण में भारतीय संविधान का अपमान किया। यह उनका देश विरोधी बयान है। इससे ज्यादा हैरान करने वाली बात यह है कि वह अब सफाई दे रहे हैं। उन्हें संविधान के बारे में कुछ नहीं पता.यह जुबान की फिसलन नहीं है। वाम दल संविधान के बारे में जो सोचता है, यह उसका सिलसिला है.

राज्यपाल ने की आलोचना

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद ने कहा कि जो सार्वजनिक पद पर बैठे लोग हैं उनका कर्तव्य है कि वे संविधान और कानून को बनाये रखें। राज्यपाल ने कहा कि मुझे जानकारी मिली है कि सीएम पहले ही स्पष्टीकरण मांग चुके हैं। लेकिन मैंने अब तक मैंने कोई रिपोर्ट नहीं मांगी है, लेकिन निगरानी बनाये रखा हूँ।

MUST READ