भारत हर मुकाबले में बना रहा बड़ा स्कोर तो आकाश चोपड़ा को हुई जलन, कहा- इतना स्कोर बनना अच्छी बात नहीं

भारत और न्यूजीलैंड की टीम के बीच इंदौर में खेले गए तीसरे वनडे मुकाबले में भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड को 90 रनों से हराते हुए तीन मैचों की वनडे श्रृंखला में न्यूजीलैंड का 3-0 से सूपड़ा साफ कर दिया है। भारतीय टीम ने इंदौर वनडे मुकाबले में 9 विकेट के नुकसान पर पहले बल्लेबाजी करते हुए 385 रन बनाए। जवाब में न्यूजीलैंड की टीम को 295 रनों पर समेट दिया।

आपको बता दें भारतीय टीम ने श्रीलंका और न्यूजीलैंड दोनों के खिलाफ कई बार 350 से ऊपर रन बनाए और अब लगातार बन रहे बड़े स्कोर को देखकर क्रिकेटर कम कॉमेंटेटर आकाश चोपड़ा को जलन हो गई है।

आकाश चोपड़ा ने अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर बातचीत करते हुए कहा है कि क्रिकेट के लिए इस तरह की सपाट पिचें अच्छी नहीं है। अगर वर्ल्ड कप में भी इसी तरह की पिच रही तो 400 रन बनाना बड़ा आसान हो जाएगा। यह क्रिकेट के लिए सही नहीं है। अगर इसी तरह की फ्लैट पिचें रही तो गिल और रोहित शर्मा इसी तरह से रन बनाते रहेंगे और जिस मुकाबले में यह दोनों आउट हो जाएंगे तो विराट कोहली आपको नहीं छोड़ेंगे।

अब अगर आकाश चोपड़ा के इस बयान को देखें तो यह समझ से परे है कि अगर एक मुकाबले में या लगातार मुकाबले में 350 से 380 रन बन रहे हैं तो इससे क्रिकेट को कैसे नुकसान हो रहा है। अगर भारत 360 रन बना रहे हैं तो न्यूजीलैंड 310 रन बना रहा है उसमें क्रिकेट का नुकसान कैसे? अब यह बात समझ से परे है कि आखिर आकाश चोपड़ा को भारतीय खिलाड़ी रन बना रहे हैं तो उससे क्या जलन हो रही है।

आकाश चोपड़ा के बयान को देखा जाए तो यह तो वही बात हो गई कि जिस टूर पर राहुल द्रविड़, सचिन तेंदुलकर और भारत के अन्य खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग रनों का अंबार लगा रहे थे उसी टूर पर आकाश चोपड़ा बॉल को पुरानी कर रहे थे। मुझे याद नहीं पड़ रहा है कि मैंने कोई ऐसा ओपनर देखा हो जो रन बनाने का छोड़ गेंद को पुरानी करने का रोल निभाता हो और उसकी पहचान ही सिर्फ यही हो।

MUST READ