राहुल गांधी द्वारा दुष्कर्म पीड़िता के परिवार की फोटो ट्वीट करने के मामले में जानिए Twitter ने अपनी नीतियों को लेकर कोर्ट में क्या कहा..

राहुल गांधी के टि्वटर सस्पेंड किए जाने का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है वही अब इस पूरे मामले को लेकर ट्विटर ने दिल्ली हाई कोर्ट में राहुल गांधी के ट्वीट को ट्विटर की नीतियों का उल्लंघन बताया है।

दिल्ली में 9 वर्षीय नाबालिक के साथ दुष्कर्म और हत्या के मामले में राहुल गांधी पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे थे जहां उन्होंने पीड़िता के माता-पिता के साथ फोटो अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट की थी। जिसके बाद राहुल के इस ट्वीट को डिलीट कर दिया गया था और उनके ट्विटर अकाउंट को भी लॉक कर दिया गया है वहीं राहुल गांधी के ट्वीट पर कार्रवाई की मांग को लेकर सामाजिक कार्यकर्ता द्वारा दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका लगाई गई थी जिसमें सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान दिल्ली हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस ने ट्विटर के वकील से पूछा कि क्या पीड़िता के माता-पिता का फोटो हटा दिया गया है इस पर ट्विटर की तरफ से वकील ने कोर्ट को बताया कि राहुल गांधी द्वारा किए गए ट्वीट को हटा दिया गया है वहीं उनके अकाउंट को ब्लॉक किया गया है ट्विटर के वकील ने कहा कि राहुल गांधी के द्वारा किए गए ट्वीट ने हमारी नीतियों का उल्लंघन किया है। हालांकि दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा याचिका पर नोटिस अभी जारी नहीं किया गया है लेकिन राहुल गांधी समेत सभी प्रतिवादियों से पक्ष रखने को कहा गया है और मामले को अगली सुनवाई के लिए 27 सितंबर की तारीख दी गई है।

बता दें कि राहुल गांधी के ट्वीट पर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने भी दिल्ली पुलिस को पत्र लिखकर मामले में राहुल गांधी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी आयोग ने कहा था कि किसी भी नाबालिग पीड़िता के परिवार की तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट करना जुवेनाइल जस्टिस एक्ट 2015 की धारा 74 और पोक्सो एक्ट की धारा 23 का उल्लंघन है। वहीं भारतीय जनता पार्टी ने भी राहुल गांधी के ट्वीट की निंदा करते हुए उनके विरुद्ध कार्रवाई की मांग की थी। बहरहाल राहुल गांधी का टि्वटर अकाउंट लॉक है वहीं दूसरी ओर कांग्रेस लगातार राहुल गांधी के ट्विटर अकाउंट की बहाली के लिए संघर्ष करते नजर आ रही।

MUST READ