अगर चैपल की वजह से टीम से बाहर नहीं हुआ होता तो इस खिलाड़ी से ज्यादा रन बनाता:वीरेंद्र सहवाग

Liberal Sports Desk : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग अपने बेबाक बोल के लिए जाने जाते हैं। अपने पूरे क्रिकेट करियर के दौरान जिस तरह से वह अपने अंदाज में बल्लेबाजी करते थे उसी तरह से अपने बेबाक अंदाज के लिए क्रिकेट मैदान के बाहर भी जाने जाते हैं। भारतीय क्रिकेट में ग्रेग चैपल का नाम विवादों में ज्यादा रहा है। ग्रेग चैपल की वजह से ही भारतीय क्रिकेट को सबसे बुरा दौर भी देखना पड़ा था। अब भारतीय टीम के विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने ग्रेग चैपल को याद करते हुए भावुक हो गए हैं उन्होंने कहा कि उनकी वजह से ही मैं इतने रन नहीं बना पाया।

भारत और इंग्लैंड के बीच लॉर्ड्स में खेले जा रहे टेस्ट मैच के दूसरे दिन संजय मांजरेकर और वीरेंद्र सहवाग कॉमट्री कर रहे थे। तभी कॉमेंट्री के दौरान टीवी पर भारतीय टीम के उन खिलाड़ियों की लिस्ट दिखाई गई जिन्होंने भारतीय क्रिकेट के लिए टेस्ट में सबसे ज्यादा रन बनाए हैं उसमें सबसे पहले सूची में नाम क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर का था जिन्होंने 15000 से भी ऊपर रन बनाए हैं। उसमें वीरेंद्र सहवाग का भी नाम दिखाई दिया तब वीरेंद्र सहवाग ने बातों ही बातों में ग्रेग चैपल का नाम लेते हुए भावुक हो गए।

वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि “ग्रेग चैपल के कारण ही मुझे टीम से बाहर होना पड़ा। उस दौरान भारत ने 11 टेस्ट खेले। अगर इस दौरान मैं खेलता तो मेरे नाम भी टेस्ट क्रिकेट में 10000 रन होते। वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि जिस समय मैं टेस्ट टीम से ड्राप हुआ था। उस समय भारत बेहद ही कम टेस्ट मैच खेलता था और जब मैं बाहर हुआ तो मैं वह 11 टेस्ट मैच नहीं खेल पाया।

आपको बता दे वीरेंद्र सहवाग 2007 में केवल एक टेस्ट मैच खेले थे और वह भी दक्षिण अफ्रीका के केप टाउन में था। इसके बाद वीरेंद्र सहवाग को टीम से ड्रॉप कर दिया गया था और वह 2008 में ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर टीम में शामिल किए गए थे उस वक्त भारतीय टीम की कप्तानी अनिल कुंबले कर रहे थे। और उन्होंने सहवाग पर भरोसा जताया था।

वीरेंद्र सहवाग ने जब सूची में सचिन तेंदुलकर के 15921 रनों के आंकड़े को देखा तो सहवाग हंस दिए और उन्होंने कहा कि “मैं सचिन तेंदुलकर के करीब तो बिल्कुल भी नहीं पहुंच सकता था लेकिन हां वीवीएस लक्ष्मण के आगे जरूर निकल जाता आपको बता दें वीवीएस लक्ष्मण के टेस्ट करियर में 8781 रन हैं। वहीं अगर वीरेंद्र सहवाग के टेस्ट करियर की बात करें तो उनके 8586 रन हैं।

आपको बता दें 2009 से 2011 तक वीरेंद्र सहवाग बेहद शानदार फॉर्म में नजर आ रहे थे। सहवाग लगातार टेस्ट मैचों में सेंचुरी लगा रहे थे और वनडे क्रिकेट में भी उनका फॉर्म बेहद शानदार था और यह शानदार फॉर्म 2011 वर्ल्ड कप तक जारी रहा था।

MUST READ