मुझे माफ कर दो प्लीज मुझे बैन मत करो,जब विराट कोहली ने कहे थे मैच रेफरी से ये शब्द,जानिए पूरा मामला

Liberal Sports Desk : विराट कोहली क्रिकेट के मैदान पर अपने आक्रामक रवैया के लिए जाने जाते हैं। विराट कोहली से यदि प्रतिद्वंदी छींटाकशी करने की कोशिश करता है तो विराट कोहली भी पलट कर उसी के अंदाज में जवाब देते नजर आते हैं। क्रिकेट के मैदान पर अक्सर विराट कोहली का यह आक्रामक रवैया हमें कई दफा देखने मिला है। कुछ ऐसा ही एक वाक्या 2011-12 में खेले गए सिडनी टेस्ट मैच के दौरान हुआ था। जब विराट कोहली के आक्रामक रवैया के कारण उन्हें मैच रेफरी के सामने खुद को बैन ना करने के लिए गिड़गिड़ाना पड़ा था।

दरअसल 2011-12 में बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी के दौरान सिडनी टेस्ट मैच में विराट कोहली बाउंड्री लाइन पर फील्डिंग कर रहे थे। जब विराट कोहली फील्डिंग कर रहे थे तब ऑस्ट्रेलियाई फैंस उन्हें उकसाने की कोशिश कर रहे थे। तभी विराट कोहली ने बाउंड्री लाइन पर फील्डिंग करते हुए क्राउड की तरफ अपनी मिडल फिंगर दिखा दी।

टाइम्स नाउ की एक खबर के अनुसार विराट कोहली ने इस घटना का खुलासा किया था। मैच खत्म होने के बाद विराट कोहली को रंजन मदुगले ने ड्रेसिंग रूम में बुलाया और पूछा कि कल फील्डिंग के दौरान क्या हुआ था। विराट कोहली ने जवाब देते हुए कहा ” कुछ नहीं बस थोड़ा सा मजाक था। उसके बाद रंजन मदुगले ने एक अखबार को फेंकते हुए कहा इस अखबार को पढ़ो इसमें क्या लिखा है। उसमें विराट कोहली की मिडल फिंगर दिखाते हुए तस्वीर छपी हुई थी। विराट कोहली समझ गए और उन्होंने अपनी गलती मानते हुए रंजन मदुगले से माफी मांगी और कहा कि मुझे प्लीज बैन मत करो।

रंजन मदुगले ने उन्हें माफ कर दिया। जिसके बाद विराट कोहली ने कहा था कि रंजन मदुगले बेहद अच्छे इंसान हैं। वह यह समझ गए थे कि मैं युवा हूं और मैदान पर ऐसी चीजें होती रहती हैं।

विराट कोहली आज विश्व क्रिकेट का एक ऐसा नाम है जिसने क्रिकेट की दुनिया पर अब तक राज किया है और लगातार अपने शानदार प्रदर्शन से गेंदबाजों के लिए खौफ बने हुए हैं विराट कोहली की आक्रामकता में आज भी कोई कमी नहीं आई है लेकिन अब विराट कोहली सहज होकर ही प्रतिद्वंदियों का जवाब देते हुए नजर आते हैं।

MUST READ