‘बंगाल में ढाई साल से लंबित हैं निगम चुनाव ,लेकिन सीएम पद पर बने रहने के लिए ममता चाहती हैं उपचुनाव’ – भाजपा ने साधा निशाना

पश्चिम बंगाल में एक बार फिर उप चुनाव का मुद्दा गर्माता जा रहा है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को सीएम पद पर बने रहने के लिए चुनाव जीतना जरुरी है तो वहीँ बंगाल में भाजपा लगातार यह कह रही है कि पश्चिम बंगाल में अभी जो हालात हैं उनमे चुनाव होना संभव नहीं है। कोरोना की स्तिथि का हवाला देखर भाजपा उप चुनाव टालना चाहती है। इस सम्बन्ध में भाजपा ने चुनाव आयोग को भी लिखित रूप से कहा है कि बंगाल की वर्तमान स्तिथि में उप चुनाव संभव नहीं हैं। वहीँ अब इस पूरे मामले को लेकर भाजपा ने सीएम ममता बनर्जी पर निशाना साधा है कि ममता सीएम पद पर बनी रहना चाहती हैं इसलिए वे उप चुनाव की मांग कर रही हैं।

पश्चिम बंगाल के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने उपचुनाव को लेकर हमला किया है। दिलीप घोष ने कहा कि हम चुनाव आयोग को लिखित रूप में बता चुके हैं कि जो पश्चिम बंगाल में अभी स्तिथि है उस स्तिथि में उप चुनाव नहीं हो सकते हैं। दिलीप घोष ने टीएमसी सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि अगर चुनाव कराने की स्तिथि है तो दो ढाई साल से नगर निगम के चुनाव क्यों लंबित हैं ?दिलीप घोष ने कहा कि ममता बनर्जी को सीएम बने रहा है इसलिए चुनाव के लिए अड़ी हुई हैं।

बता दे कि बंगाल विधानसभा चुनाव में जहाँ टीएमसी ने भाजपा को हराकर जबरदस्त जीत हासिल की थी लेकिन ममता बनर्जी नंदीग्राम से चुनाव हार गयी थी। हालाँकि उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली थी लेकिन उन्हें 6 महीने में विधानसभा या विधानपरिषद का सदस्य होना जरुरी है। अगर ऐसा नहीं हो पता है तो ममता को मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा देना पद जायेगा। चूंकि बंगाल में विधानपरिषद नहीं है ऐसे में ममता को विधानसभा उपचुनाव जीतकर सदन का सदस्य बनना होगा।

MUST READ