राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने के लिए नहीं मिल रहे कांग्रेसी , भाजपा का दावा – बुलाये थे 700 आये सिर्फ 3

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा मध्यप्रदेश से होते हुए आज रविवार शाम राजस्थान की सीमा पर प्रवेश कर गई है।मध्यप्रदेश पहला हिंदी पट्टी राज्य था जहाँ से भारत जोड़ो यात्रा निकली है। एमपी में राहुल गाँधी की अगुवाई वाली यात्रा को जनसमर्थन भी मिला तो भाजपा ने जमकर हमले भी किये। ओंकारेश्वर में नर्मदा आरती से लेकर महाकाल की पूजा तक भाजपा ने राहुल गाँधी को जमकर घेरा। खरगौन में राहुल की पदयात्रा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगने के भी आरोप लगाए गए। हालाँकि तमाम आरोपों और प्रत्यारोपो के बीच यात्रा ने मध्यप्रदेश के सफर को भी सफलतापूर्वक तय कर लिया है।

राजस्थान में अब यात्रा की शुरुआत से पहले ही कई मुश्किलें खड़ी हो गई है।अशोक गहलोत और सचिन पायलट खेमे में चल रही तकरार का सीधा असर भारत जोड़ो यात्रा पर पड़ने के आसार नजर आ रहे हैं। इस बीच भारतीय जनता पार्टी ने बड़ा दावा किया है। भाजपा नेता अमित मालवीय ने ट्वीट करते हुए कहा है कि राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने के लिए कोंग्रेसी नहीं मिल पा रहे हैं।

अमित मालवीय ने एक मीडिया रिपोर्ट साझा की है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भरतपुर में भारत जोड़ो यात्रा में 700 कोंग्रेसियो को शामिल करने की योजना थी लेकिन साक्षात्कार के लिए सिर्फ 3 ही कार्यकर्ता पहुंचे।

अमित मालवीय ने इसी रिपोर्ट का सहारा लेकर तंज कसते कहा कि राजस्थान में कांग्रेस कार्यकर्ता राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होना नहीं चाहते। गहलोत और पायलट के बीच खींचा तान में राहुल की यात्रा के लिए पैसे देकर भीड़ बुलाना ही ठीक होगा। और दर्शक जुटाने के लिए बॉलीवुड से थके कुछ कलाकारों को भी बुला लें।नहीं तो यात्रा फ्लॉप समझो।

MUST READ