नवजोत सिंह सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच सुलह कराने कांग्रेस थाम सकती है इस रणनीतिकार का हाँथ

नवजोत सिंह सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच चल रही सियासी जंग एक बार फिर सुर्खियों में आ गई है लेकिन यह सुर्खियां कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व के लिए पंजाब विधानसभा चुनाव से पूर्व मुसीबत का सबब बन रही है।

सिद्धू और कैप्टन के बीच चल रहे विवाद को समाप्त करने कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व ने पहले भी कई प्रयास किए हैं लेकिन सभी बेनतीजा साबित हुए। लेकिन अब जबकि विधानसभा चुनावों में ज्यादा समय बाकी नही है कांग्रेस का केंद्रीय नेतृत्व लंबे समय से चल रहे इस अंतरकलह को समाप्त करने पूरी तरह सक्रिय नजर आ रहा है।

चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर की मदद से अंतरकलह सुलझाने के कयास

सियासत के शतरंज में अपनी कुशल रणनीति का जौहर साबित कर चुके चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर अब पंजाब कांग्रेस में चल रही अंतरकलह को सुलझाते हुए भी नजर आ सकते हैं। दरअसल बीते दिन मंगलवार को राहुल गांधी के घर पर एक बैठक हुई जिसमें पंजाब प्रभारी हरीश रावत, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ,केसी वेणुगोपाल और प्रशांत किशोर भी मौजूद रहे। राहुल गांधी के घर में हुई इस अहम बैठक में प्रशांत किशोर की मौजूदगी से कई कयास लगाए जा रहे इससे पूर्व प्रशांत किशोर ने अमरिंदर सिंह से भी मुलाकात की थी जिसको लेकर ऐसा माना जा रहा है कि सिद्धू और कैप्टिन के बीच विवाद को सुलझाने की बागडोर कांग्रेस केंद्रीय नेतृत्व बिहार के इस कुशल रणनीतिकार के हांथो में सौंप सकती है।

MUST READ