केंद्र वापस ले जाये अपना अमेजॉन का पार्सल , और भेज दे वृद्धाश्रम … महाराष्ट्र के गवर्नर पर टूट पड़े उद्धव ठाकरे

महाराष्ट्रा के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी पर जुबानी तीरो की बौछार कर दी है। छत्रपति शिवाजी महाराज को लेकर दिए गए कोश्यारी के बयान से शिवसेना जमकर नाराज है। कई अन्य दलो के नेताओ ने भी भगत सिंह कोश्यारी का विरोध किया है। इस बीच उद्धव ठाकरे का गुस्सा राज्यपाल कोश्यारी पर ऐसा फूटा कि उन्होंने भगत सिंह कोश्यारी को केंद्र सरकार का भेजा गया अमेजॉन पार्सल बता दिया। यही नहीं उन्होंने केंद्र सरकार से यह अपील भी कर दी कि भगत सिंह कोश्यारी को वृद्धाश्रम भेज देना चाहिए।

उद्धव ठाकरे ने लोगों से ‘पार्टी पॉलिटिक्स’ से ऊपर उठने और राज्यपाल की टिप्पणी का विरोध करने का भी आग्रह किया।उन्होंने कहा कि हम केंद्र से महाराष्ट्र भेजे गए परसल को वापस बुलाने और वृद्धाश्रम भेजने का अनुरोध करते हैं। हम सभी महाराष्ट्र प्रेमियों से उनके बयान का विरोध करने का आग्रह करते हैं। एक साथ आओ और दलगत राजनीति से ऊपर उठो। महाराष्ट्र के खिलाफ इस देशद्रोह के खिलाफ एकजुट होकर आगे आओ। यहां तक ​​कि अगर वे बीजेपी से हैं, तो हम उन्हें अपने साथ ले जाएंगे, अगर वे विरोध करना चाहते हैं। हम अन्य सभी पार्टियों से भी बात कर रहे हैं।

बता दे कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शिवाजी महाराज को पुराना आदर्श बताया था। इस बयान के साथ ही विवाद खड़ा हो गया। पूर्व मुख्यमंत्री ने उद्धव ठाकरे ने अपनी टिप्पणी पर राज्यपाल के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने के लिए डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस की भी खिंचाई की.उन्होंने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज का अपमान हो रहा है और सरकार खामोश बैठी है. मुझे समझ नहीं आ रहा है कि सीएम कौन हैं।

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे का नाम लिए बिना उन पर तंज कसते हुए उद्धव ने कहा, ‘दिल्ली की मदद से यहां सत्ता में रहने वाला व्यक्ति राज्यपाल के खिलाफ क्या कहेगा?इससे पहले दिन में, छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज, राज्यसभा सांसद उदयनराजे भोंसले ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य को पत्र लिखकर कोश्यारी को बर्खास्त करने की मांग की थी।

MUST READ