अमेरिका के अखबार में AAP द्वारा प्राइवेट स्कूल की फोटो छपवाने का भाजपा का दावा निकला झूठा -लिबरल टीवी की पड़ताल में सच आया सामने

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर पर सीबीआई की छापेमार करवाई के बीच आम आदमी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी के बीच जबरदस्त सियासी घमासान मचा हुआ है। दोनों पार्टियां एक दूसरे के खिलाफ आरोपों की बौछार कर रही हैं। इस बीच ट्विटर पर दोनों सियासी दलो के नेताओ द्वारा एक दूसरे के खिलाफ कई बड़े दावी भी किये जा रहे हैं। मनीष सिसोदिया के आवास पर सीबीआई की रेड के बाद दूसरा जो सबसे बड़ा मुद्दा उभरकर सामने आ रहा है अमेरिका के अख़बार न्यू यॉर्क टाइम्स में छपी दिल्ली के शिक्षा मोडल की खबर है।

आम आदमी पार्टी का कहना है कि दुनियाभर में दिल्ली के शिक्षा मोडल की बढ़ती लोकप्रिय से भाजपा डरी हुई है ऐसे में मनीष सिसोदिया के खिलाफ सीबीआई की यह करवाई की जा रही है। वहीं दूसरी ओर अमेरिका के अखबार में छपी इस खबर को भाजपा ने पैसो से छपवाया हुआ विज्ञापन करार दिया है। यही नहीं भाजपा नेताओ का दावा है कि न्यू यॉर्क टाइम्स और खलीज टाइम्स पर आम आदमी पार्टी ने सरकारी स्कूल बताकर प्राइवेट स्कूल की फोटो छपवाई है। हालांकि जब लिबरल टीवी की टीम ने इस दावा की पड़ताल की तो भाजपा नेताओ का दावा पाया गया।

पहले जानिए क्या बोले भाजपा नेता

भाजपा सांसद परवेश सिंह ने खलीज टाइम्स पर छपी खबर को ट्वीट करते हुए कहा कि करोड़ों देकर विदेशों में विज्ञापन तो छपवा लिए लेकिन उसमें भी हेरा फेरी कर डाली। विज्ञापन सरकारी स्कूल का और फ़ोटो चुराई मदर मैरी स्कूल मयूर विहार की। तुम कोई काम बिना हेरा-फेरी के नहीं कर सकते क्या अरविन्द केजरीवाल?

दूसरी तरफ भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने ट्वीट करते हुए कहा कि भाजपा न्यू यॉर्क टाइम्स और ख़लीज़ टाइम्स में पैसे देकर ख़बर तो छपवा ली , पर झूठ और चोरी की आदत नहीं गयी। ये फ़ोटो दिल्ली के सरकारी स्कूल की नहीं बल्कि मयूर विहार के मदर मैरी स्कूल के बच्चों की हैं। केजरीवाल और सिसोदिया देश में भी झूठ बेच रहे हैं और विदेश में भी

क्या कहती है लिबरल टीवी की पड़ताल ?

लिबरल टीवी की टीम ने जब इन दोनों अखबारों में छपी खबर और भाजपा के आरोपों की पड़ताल की तो सच कुछ और ही सामने आया।दरअसल भाजपा का आरोप है कि आम आदमी पार्टी ने सरकारी स्कूल बताकर दिल्ली की मयूर विहार की मदर मैरी स्कूल के फोटो छपवाई है। अखबार में जिस फोटो को लेकर भाजपा यह दावा कर रही है उसमे स्कूल के एक कमरे में कुछ लड़किया और लड़के नजर आ रहे हैं। भाजपा ने इसके साथ ही मदर मैरी स्कूल की एक फोटो भी शेयर की है जिसमे हूबहू ड्रेस पहने लड़किया खड़ी हुई है। हालांकि भाजपा का यह दावा झूठा साबित होता है।

दरअसल भाजपा जिस ,मयूर विहार स्तिथ मदर मैरी स्कूल की बात कर रही है वह सिर्फ लड़कियों की स्कूल है लेकिन अखबार में जो फोटो छपी है उसमे कक्षा में लड़के और लड़कियां दोनों बैठे हुए दिखाई दे रहे हैं। मदर मैरी स्कूल मयूर विहार की आधिकारिक वेबसाइट में भी यह जानकारी दी गई है कि यह स्कूल सिर्फ लड़कियों की पढाई के लिए है। ऐसे में भाजपा का यह आरोप कि आम आदमी पार्टी ने सरकारी स्कूल बताकर मदर मैरी स्कूल की फोटो छपवाई झूठा साबित होता है।

MUST READ