ऑटोमोबाइल स्क्रैपेज नीति हुई लॉन्च,पीएम मोदी ने कहा – नई गाड़ी खरीदने पर सामान्य परिवारों को होगा बहुत फायदा

शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात में इन्वेस्टर समिट में हिस्सा लिया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेशनल ऑटोमोबाइल स्क्रेपेज पॉलिसी की शुरुआत की। वही कार्यक्रम में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी शामिल हुए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत में लगभग एक करोड़ गाड़ियां ऐसी थीं जो वेलिड फिटनेस के बिना चल रही थीं। इससे प्रदूषण भी बढ़ रहा था और तेल में काफी खर्च हो रहा था। साथ ही सुरक्षा की दृष्टि से ये मानदंडों को पूरा नहीं कर रही थीं। इन्हीं विचारों से स्क्रैपिंग पॉलिसी की शुरुआत हुई है।

पीएम मोदी ने कहा कि यह पॉलिसी भारत की नई मोबिलिटी को ऑटो सेक्टर को नई पहचान देने वाली है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि नई स्क्रेपिंग नीति कचरे से कंचन अभियान की सर्कुलर अर्थव्यवस्था की एक नई कड़ी है। यह नीति शहरों से प्रदूषण कम करने और पर्यावरण से सुरक्षा के साथ तेज विकास कि हमारी प्रतिबद्धता को भी दर्शाती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस नीति से सामान्य परिवारों को काफी फायदा होगा। पीएम ने बताया कि सबसे पहला फायदा यह होगा की पुरानी गाड़ी को स्क्रैप करने पर एक सर्टिफिकेट मिलेगा यह सर्टिफिकेट जिसके पास होगा उसे नई गाड़ी की खरीद पर रजिस्ट्रेशन के लिए कोई पैसा नहीं देना होगा। इसके साथ ही उसे रोड टैक्स ने भी छूट मिलेगी।

इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कि पुरानी गाड़ी की मेंटेनेंस कॉस्ट और रिपेयर कॉस्ट में भी बचत होगी। पीएम ने कहा कि इसके साथ ही तीसरा लाभ सीधा जीवन से जुड़ा हुआ है। पुरानी गाड़ियों पुरानी टेक्नोलॉजी के कारण सड़क दुर्घटना का खतरा बहुत ज्यादा रहता है जैसे अब राहत मिलेगी। वही हमारे स्वास्थ्य पर जो प्रदूषण के कारण असर पड़ता है उसमें भी कमी आएगी।

MUST READ