वनडे में लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे ज्यादा बार नॉट आउट रहे हैं धोनी, देखें जबरदस्त आंकड़े

भारतीय क्रिकेट इतिहास में अगर सबसे सफल कप्तान या सबसे खतरनाक फिनिशर की बात हो तो सबसे पहले महेंद्र सिंह धोनी का नाम आता है जिनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने कई बड़े मुकाम हासिल किए हैं। धोनी एकमात्र ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने ICC की तीनों ट्रॉफी जीती हैं। क्रिकेट जगत जनता है कि धोनी जब विकेट के पीछे खड़े होते हैं तो वह अपनी चालों से मैच का पासा पलट देते हैं लेकिन बात जब क्रिकेट इतिहास के सबसे बड़े फिनिशर की होती है तो धोनी सबसे टॉप पर रहते हैं। धोनी ने वनडे क्रिकेट में कई बार लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम इंडिया को जीत दिलाई है और वह ऐसे बल्लेबाज हैं जो वनडे में टारगेट का सफल पीछा करते हुए सबसे ज्यादा बार नॉट आउट रहे हैं।

आपको बता दें कि वनडे क्रिकेट के सबसे शानदार बल्लेबाज धोनी 47 बार नॉट आउट रहे है जब उन्होंने लक्ष्य का पीछा किया और वनडे मैच में टीम को जीत दिलाई हो। वह इस खास लिस्ट में सबसे ऊपर हैं और यह आंकड़े बताते हैं कि क्यों महेंद्र सिंह धोनी को क्रिकेट इतिहास का सबसे बेहतर फिनिशर माना जाता है। इस खास सूचि में दूसरे नंबर पर दक्षिण अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज जोंटी रोड्स का नाम है जो 33 बार नॉट आउट रहे हैं। फिर पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंज़माम उल हक़ का नाम आता है जो 32 बार नाबाद रहे। चौथे नंबर पर रिकी पोंटिंग का नाम आता है जो लक्ष्य का सफल पीछा करते हुए वनडे में 31 बार नॉट आउट रहे हैं।

इस लिस्ट में टीम इंडिया का मौजूदा कप्तान विराट कोहली भी शामिल है जो इस समय वनडे क्रिकेट के सबसे शानदार बल्लेबाज़ माने जाते हैं। कोहली को वनडे में लक्ष्य का पीछा करना काफी पसंद है और वह 30 बार नाबाद रहे हैं जब टीम इंडिया ने वनडे में लक्ष्य का पचा करते हुए जीत हासिल की हो। ऐसे में महेंद्र सिंह धोनी ने इस लिस्ट में बाजी मारी है और उनके संन्यास लेने के बाद भी उनके आस पास कोई बल्लेबाज नजर नहीं आता। धोनी ने अपने वनडे करियर में 350 मुकाबले खेलकर 50 की जबरदस्त औसत से 10773 रन अपने नाम किए हैं। उन्होंने वनडे में 73 अर्धशतक और 10 शानदार शतक भी लगाए हैं।

MUST READ