भारत का पूर्व खिलाड़ी बोला – अब रवि शास्त्री की जगह इस दिग्गज को बनाना चाहिए टीम इंडिया का कोच

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला हारने के बाद टीम इंडिया का प्रदर्शन सवालों के घेरे में आ गया है। वहीं टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की कप्तानी पर भी काफी सवाल खड़े किए जा रहे हैं। यही नहीं अब टीम के हेड कोच रवि शास्त्री की कुर्सी पर भी तलवार लटक चुकी है क्योंकि जबसे शास्त्री टीम इंडिया के कोच बने हैं तब से ही भारतीय टीम ICC के सेमीफइनल या फाइनल में जीत हैसल नहीं कर पाई है। इसपर अब टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी रीतिंदर सिंह सोढ़ी ने भी बड़ा बयान देते हुए कहा है कि जिस तरह BCCI ने राहुल द्रविड़ को श्रीलंका दौरे पर उन्हें टीम इंडिया का हेड कोच बनाकर भेजा है इसका मतलब है कि आने वाले समय में रवि शास्त्री को कोच के पद से हटाकर द्रविड़ को भारत का कोच बनाया जा सकता है और अगर कोई शास्त्री की जगह ले सकता है तो फिर द्रविड़ से बेहतर कोई भी नहीं है। ऐसे में अब क्रिकेट फैंस भी शास्त्री की जगह राहुल द्रविड़ को भारत का कोच बनाने की मांग उठा रहे हैं।

आपको बता दें कि टीम इंडिया के साथ रवि शास्त्री का कार्यकाल टी-20 वर्ल्ड कप 2021 तक है और उसके बाद BCCI उनका कार्यकाल आगे बढ़ाएगी या नहीं यह वर्ल्ड कप में टीम के प्रदर्शन पर ही निर्भर करता है और शास्त्री भी चाहेंगे कि उनके होते हुए भारत वर्ल्ड कप में शानदार खेले और ट्रॉफी जीते। अगर तो टीम इंडिया T-20 वर्ल्ड कप 2021 जीत जाती है फिर तो रवि शास्त्री का कार्यकाल जरूर बढ़ सकता है लेकिन अगर कहीं टीम हार जाती है तो रवि शास्त्री की कुर्सी हाथ से जा सकती है और फिर BCCI राहुल द्रविड़ को कोच बनाने के बारे में सोच सकती है। बता दें की जब से शास्त्री टीम इंडिया के साथ हैं भारत 2017 चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल, 2019 वर्ल्ड कप का सेमीफइनल और अब टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल हार चुकी है।

वहीं राहुल द्रविड़ इस लिए भी शास्त्री के बाद भारत के कोच बन सकते हैं क्योंकि द्रविड़ की कोचिंग में टीम इंडिया ने 2018 में U-19 वर्ल्ड कप जीता और अब द्रविड़ श्रीलंका दौरे में भी टीम इंडिया के साथ बतौर हेड कोच रहेंगे क्योंकि शास्त्री टीम इंडिया के साथ इंग्लैंड में हैं। अगर द्रविड़ के होते हुए टीम इंडिया श्रीलंका में जीत जाती है तो उनकी दावेदारी और भी मजबूत हो जाएगी। इसके साथ ही द्रविड़ NCA में भी कोचिंग का किरदार निभा रहे हैं और उन्होंने पृथ्वी शॉ, संजू सेमसन, अजिंक्य रहाणे, शुबमन गिल जैसे खिलाड़ियों को भारत की सीनियर टीम तक पहुंचाया है। ऐसे में अब देखना होगा वर्ल्ड कप खत्म होने के बाद शास्त्री अपनी कुर्सी बचा पाएंगे या फिर नहीं।

MUST READ