धोनी से पंत की तुलना पर भड़के इस कोच ने कहा – इन बातों से खिलाड़ी के प्रदर्शन पर असर पड़ता है

रिषभ पंत मौजूदा समय में टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज बन चुके है और हर कोई उनकी बल्लेबाजी की तारीफ करता है लेकिन कई बार देखा जाता है कि रिषभ पंत की तुलना भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ की जाती है जिसके बाद देखने को मिलता है कि सोशल मीडिया पर पंत को आलोचना भी झेलनी पड़ती है। ऐसे में अब रिषभ पंत के बचपन के कोच तारक सिन्हा ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि दोनों ही अपनी जगह सही है पर बार बार तुलना करने की जरूरत क्या है क्योंकि ऐसी बातों से खिलाड़ी का मनोबल भी टूट जाता है और उनके ऊपर मानसिक दबाव भी बढ़ जाता है जिसका असर उनके खेल पर भी दिखाई देता है। तारक सिन्हा का मानना है कि पंत अभी युवा है और वह अपनी मेहनत से आगे निकल रहा है इसलिए उन्हें अपने तरीके से चलने देना चाहिए।

तारक सिन्हा ने कहा – धोनी भारत के सबसे सफल कप्तान है और पंत को अभी तक टीम इंडिया की कप्तानी भी नहीं मिली फिर सिर्फ बल्लेबाजी को देखकर उनसे तुलना नहीं की जा सकती। इसमें कोई शक नहीं है कि पंत टीम के फिनिशर है लेकिन धोनी की जगह टीम में लेना कोई आसान काम नहीं है इसलिए रिषभ जैसे भी खेल रहा है उन्हें अपने हिसाब से खेलने देना चाहिए। धोनी ने लंबे समय से भारत के लिए फिनिशर का काम किया है और पंत अभी उनके आस पास भी नहीं है इसलिए तुलना का तो सवाल ही पैदा नहीं होता। तारक सिन्हा का मानना है कि जब तुलना करनी शुरू हो जाती खिलाड़ी भी सोचता है कि उसे अपना खेल बदलना चाहिए। धोनी को भी खुद को साबित करने में समय लगा था और पंत को भी समय देना चाहिए।

आपको बता दें जब पंत से भी कई बार पूछा जाता है कि आपकी तुलना जब धोनी से होती है तो आपको कैसा लगता है, इसपर पंत ने हमेशा यही बोला है कि अगर लोग मुझे उनकी तरह समझते है तो अच्छी बात है लेकिन मैं हमेशा उनसे कुछ न कुछ सीखता हूं और ना ही उनकी जगह कभी टीम में ले सकता हूं। मेरा काम अपना प्रदर्शन सही करना है और मैं टीम के लिए खेलता हूं इसलिए धोनी के साथ तुलना नहीं होनी चाहिए। बता दें की पिछले एक साल से पंत ने अपनी विकेटकीपिंग और फिटनेस के ऊपर काफी मेहनत की है और अपने बल्ले से आलोचकों को मुंहतोड़ जवाब भी दिया है जिसके बाद उनकी हर जगह तारीफ भी देखने को मिलती है।

तारक सिन्हा ने यह भी बोला है कि आने वाले टी-20 वर्ल्ड कप में ऋषभ पंत की भूमिका टीम इंडिया के लिए काफी अहम रहने वाली है। क्योंकि धोनी के जाने के बाद पंत टीम में ऐसा खिलाड़ी है जो अपने दम पर अंत में मैच का पासा पलट सकता है और ऐसा कारनामा उन्होंने कई बार करके भी दिखाया है। फ़िलहाल रिषभ पंत टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए तैयारी कर रहे हैं और उनकी कोशिश रहेगी कि टीम को जीत दिलाने में अहम योगदान दिया जाए।

MUST READ