दिलीप कुमार की 5 बेहतरीन फिल्में, जिन्होंने सिनेमा का उन्हें ‘मुगल-ए-आजम’ बनाया

महान अभिनेता दिलीप कुमार का लंबी बीमारी के बाद बुधवार सुबह निधन हो गया, पिछले लम्बे समय से ने उनका इलाज चल रहा था। ‘ट्रेजेडी किंग’ के रूप में जाने जाने वाले दिलीप कुमार को मंगलवार से गैर-कोविड​​​-19 सुविधा हिंदुजा अस्पताल की गहन देखभाल इकाई (आईसीयू) में भर्ती कराया गया था, जहां आज सुबह उन्होंने अंतिम सांस लिए। जिसके बाद पूरी बॉलीवुड इंडस्ट्री ने सोशल मीडिया पर शोक प्रकट किया। तो चलिए आज हम आपको दिलीप साहब की टाॅप 5 फिल्मों से रूबरू करवाने जा रहे है। जिसने फिल्मी पर्दे पर धमाल मचाया था।

इस लिस्ट में सबसे पहले नंबर पर नाम है फिल्म सौदागर का …..

ये फिल्म साल 1991 में पर्दे पर रिलीज हुई थी। वही ये फिल्म 2 दोस्त राजू और वीरू यानी दिलीप कुमार और राजकुमार की दोस्ती और दुश्मनी की कहानी है। जिसे आम लोगों ने काफी प्यार दिखाया था। सौदागर फिल्म दिलीप कुमार की आखिरी प्रमुख फिल्मों में शुमार थी। हालांकि इस फिल्म के सारे की गाने काफी प्रसिद्ध थे।

दूसरे नंबर पर नाम है फिल्म आजाद का…

ये फिल्म साल 1955 में आई थी। वही इस फिल्म में दिलीप कुमार और मीना कुमारी मुख्य भूमिका में नजर आ रहे है। इस फिल्म की पूरी कहानी आजाद नाम के डाकू और शोभा की है।

तीसरे नंबर पर नाम आता है मधुमती का…

साल 1958 में रिलीज हुई मधुमती फिल्म में दिलीप कुमार के साथ वैजयंती माला लीड रोल में हैं। दिलीप जी की ये पूरी फिल्म पुर्जन्म पर आधारित है। जहां वैजयंती माला की आत्मा भटकती है।

चौथे नंबर पर नाम आता है राम और श्याम का…

ये पिचर साल 1967 में प्रसारित की गई थी। इस फिल्म में राम और श्याम यानी एक्टर दिलीप कमुार 2 रोल में दिखाई पड़ रहे है। वही ये पूरी फिल्म 2 भाइयों पर आधारित है जो पैदा होते ही अलग हो जाते है। इस फिल्म में दिलीप जी एंट्री धमाकेदार रही थी।

पांचवें नंबर पर नाम है मुगल-ए-आजम

मुगल-ए-आजम साल (1960) में रिलीज हुई। मुंबई में मुगले ए आजम का सिनेमाघरों में रिलीज होना। किसी फिल्म का एक साथ देश के डेढ़ सौ सिनेमाघरों में रिलीज होना उस वक्त का रिकॉर्ड था

MUST READ