ऐसे ही धोनी को T-20 क्रिकेट का बादशाह नहीं कहा जाता, आंकड़े देखकर आप भी रह जाएंगे हैरान

भारत के क्रिकेट इतिहास में जब भी सफल कप्तानों की बात की जाती है तो सबसे ऊपर महेंद्र सिंह धोनी का नाम आता है और उनको क्रिकेट का सबसे सफल कप्तान भी माना जाता है। यही कारण है कि आज भी भारत के सभी खिलाड़ी उन्हें मैदान के अंदर मिस करते हैं लेकिन क्रिकेट के बादशाह धोनी के आंकड़े भी काफी जबरदस्त रहे हैं। बात अगर टी-20 इंटरनेशनल क्रिकेट की करें तो धोनी की कप्तानी में भारत ने शानदार प्रदर्शन किया है और कई बड़े मुकाम हासिल किए हैं। धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने टी-20 क्रिकेट में सबसे ज्यादा मुकाबले भी अपने नाम किए है।

आपको बता दें की महेंद्र सिंह धोनी ने टी -20 क्रिकेट में भारत के लिए साल 2007 से लेकर 2016 तक कप्तानी की है और इस समय में भारत को सबसे खतरनाक टीम भी माना जाता था। धोनी ने भारत के लिए 72 टी-20 मुकाबलों में कप्तानी की है जिसमें टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए’41 मुकाबलों में जीत दर्ज की है वहीं 28 मैचों में भारत को हार का सामना करना पड़ा है जबकि 1 मैच टाई रहा है और 2 मैचों का कोई नतीजा नहीं निकला। धोनी टी-20 इंटरनेशनल में अपनी कप्तानी में सबसे ज्यादा मैच जीतने वाले खिलाड़ी भी ही। हालांकि धोनी ने 2019 में क्रिकेट को अलविदा बोल दिया था कि लेकिन अबतक उनके रिकॉर्ड को कोई तोड़ नहीं पाया है।

धोनी की कप्तानी में ही भारत ने सबसे पहला टी-20 वर्ल्ड कप 2007 में जीता था और वहीं से ही धोनी की शानदार कप्तानी शरू हो गई थी। फिर धोनी ने साल 2011 में भी वर्ल्ड कप में भारत को 28 साल बाद चैंपियन बनाया था। फिर साल 2013 में धोनी ने अपनी कप्तानी में भारत को चैंपियंस ट्रॉफी जिताई थी। कि धोनी एकमात्र ऐसे कप्तान है जिन्होंने ICC की तीनों ट्रॉफी अपने नाम की है। आज भी धोनी को उनकी शानदार कप्तानी के लिए याद किया जाता है। फ़िलहाल धोनी आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के भी कप्तान हैं और सभी टी-20 मुकाबलों में भी कप्तानी को देखें तो धोनी के नाम 170 मैच जीतने का रिकॉर्ड है जो किसी भी कप्तान के लिए सबसे ज्यादा है।

MUST READ