इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने बताया – विराट कोहली और धोनी में से कौन है भारत का सबसे सफल कप्तान

भारतीय क्रिकेट टीम के इतिहास को उठाकर देखें तो महेंद्र सिंह धोनी टीम के सफल कप्तानों में गिने जाते हैं जिनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने बड़े मुकाम हासिल किए लेकिन धोनी के जाने के बाद विराट कोहली टीम इंडिया की कमान संभाल रहे और टीम को सही दिशा में भी लेकर जा रहे हैं। अक्सर देखा जाता है कि पूर्व खिलाड़ी भी कोहली और धोनी की कप्तानी की तुलना करते रहते हैं और इसी के बीच अब इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वान ने भी इन दोनों को लेकर अपनी राय रखी है और बताया है कि तीनो फॉर्मेट पर देखा जाए तो धोनी कोहली से भी बेह्तर कप्तान हैं और उनके आस पास कोई नजर भी नहीं आता।

माइकल वान ने इन दोनों खिलाड़ियों की कप्तानी की तुलना करते हुए कहा – धोनी टी -20 टीम के बेहतर कप्तान हैं और उनकी कप्तानी में भारत ने 2007 में टी-20 वर्ल्ड कप भी जीता था। उसके बाद से लगातार उनकी कप्तानी में भारत का प्रदर्शन जबरदस्त रहा वहीं टेस्ट क्रिकेट की बात करे तो विराट कोहली के आंकड़े कमाल के है और वह धोनी से बेस्ट हैं लेकिन अगर तीनो फॉर्मेट के हिसाब से देखें तो फिर मुझे धोनी ही सबसे आगे नजर आते है। माइकल वान का मानना है कि धोनी ने एक खतरनाक टीम तैयार करके विराट कोहली को दी है जिसका फायदा कोहली को मिलता भी नजर आ रहा है। कोहली शानदार कप्तान हैं लेकिन धोनी ने टीम को जो जीत की आदत डाली थी वो भारत की टीम में हमेशा देखी जाती है।

आपको बता दें कि विराट कोहली और धोनी ने टेस्ट क्रिकेट में टीम इंडिया के लिए 60 मैचों में कप्तानी की है जिसमें धोनी ने 27 मुकाबलों में टीम को जीत दिलाई है और कोहली के आंकड़े धोनी से भी जबरदस्त है। कोहली की कप्तानी में भारत ने 60 में से 36 मैचों में जीत हासिल की है। वहीं अब विराट कोहली एक टेस्ट मुकाबला और खेलते ही भारत के लिए सबसे ज्यादा टेस्ट मैचों में कप्तानी करने वाले खिलाड़ी भी बन जाएंगे। इन्हीं आंकड़ों को देखकर माइकल वान ने बताया है कि टेस्ट में धोनी से बेह्तर विराट कोहली है। अब देखना होगा इंग्लैंड दौरे पर कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया का प्रदर्शन कैसा रहेगा और क्या टीम इंडिया टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला कोहली की कप्तानी में जीत पाएगी या नहीं।

माइकल वान ने दोनों खिलाड़ियों की जमकर तारीफ करते हुए कहा – इन दोनों ने भारतीय क्रिकेट टीम को ऐसे मुकाम पर खड़ा कर दिया है कि अब विरोधी टीम भी इनके सामने आने से पहले खास रणनीति बनाती हैं। ऐसा पहले नहीं होता था लेकिन पिछले 10 सालों से टीम इंडिया अलग ही रंग में नजर आती है। बाकी टीमों के कप्तानों को भी कोहली और धोनी की कप्तानी से सीखने की जरूरत है।

MUST READ